मथुरा (जागरण संवाददाता)। कल डीआइओएस ने नकल को लेकर सख्त कदम उठाए। नकल पकड़े जाने पर दो इंटर कॉलेज की परीक्षा निरस्त कर कक्ष निरीक्षकों का इंक्रीमेंट रोकने की कार्रवाई की गई। इसके साथ ही कुल 14 नकलची पकड़े गए। अब तक 10 विद्यालयों को डिबार करने की संस्तुति की गई है।

डीआइओएस डॉ. आइपीएस सोलंकी आज सुबह की पाली में निरीक्षण को निकले। हाईस्कूल के अंग्रेजी के पेपर में उन्हें शेरगढ़ के सरदार पटेल इंटर कॉलेज में नकल चलती मिली। बड़ी संख्या में नकल सामग्री बरामद होने पर इस केंद्र की परीक्षा निरस्त कर केंद्र डिबार करने की संस्तुति की गई। इसके साथ ही केंद्र व्यवस्थापक भी बदला गया। आंतरिक सचल दल के सदस्यों व कक्ष निरीक्षकों का इंक्रीमेंट भी रोका गया है। दोषी कक्ष निरीक्षक को कार्यमुक्त करने के निर्देश दिए गए हैं।

बछवन बिहारी इंटर कॉलेज सेही में भी यही हाल मिला। नकल सामग्री पकड़े जाने पर परीक्षा निरस्त करते हुए केंद्र डिबार की संस्तुति की गई। यहां केंद्र व्यवस्थापक के सहयोग को एक अतिरिक्त केंद्र व्यवस्थापक और पर्यवेक्षक तैनात किया गया है। इसके साथ ही आंतरिक सचल दल के सदस्यों व कक्ष निरीक्षकों का इंक्रीमेंट रोका दिया गया है।

यह भी पढ़ें: अलीगढ़ में चार्ट लगाकर कराई जा रही है बोर्ड परीक्षा में नकल

सोमवार को अंग्रेजी की परीक्षा में 14 नकलची पकड़े गए। 47629 पंजीकृत छात्र-छात्रओं में से 39813 छात्र-छात्रएं उपस्थित हुए और 7802 ने परीक्षा छोड़ दी। परीक्षा संचालन के दौरान अनियमितता के आरोपों में पूर्व में दिए गए नोटिसों की समीक्षा के बाद 10 परीक्षा केंद्रों को डिबार करने की संस्तुति सचिव माध्यमिक शिक्षा परिषद से की गई है। डॉ. सोलंकी ने बताया कि सरदार पटेल और बछवन बिहारी इंटर कॉलेज की परीक्षा निरस्त करने की संस्तुति की गई है।

यह भी पढ़ें: बिहार बोर्ड का बड़ा फैसला, 2157 रिजल्ट रद, दो स्कूलों की मान्यता निलंबित

Posted By: amal chowdhury