बदायूं (संवाद सूत्र)। निजाम बदलते ही प्रशासनिक अधिकारी फुल ऐक्शन में आ गए हैं। बोर्ड परीक्षा के परीक्षा केंद्रों पर ताबड़तोड़ छापामारी की जा रही है। गुरुवार को जिला विद्यालय निरीक्षक के छापामारी के दौरान ककराला के परीक्षा केंद्र पर सामूहिक नकल होती मिली। एक फर्जी कक्ष निरीक्षक के पास मोबाइल बरामद किया गया। सात कक्ष निरीक्षक कमरे में नकल कराते मिले। जिनके खिलाफ एफआइआर दर्ज कराई गई है। परीक्षा केंद्र पर दोबारा बोर्ड परीक्षा न कराए जाने व डिबार घोषित करने की संस्तुति हुई है।

नगर पालिका इंटर कॉलेज में हाईस्कूल की सामाजिक विज्ञान व इंटरमीडिएट की उर्दू विषय की बोर्ड परीक्षा चल रही थी। इसी दौरान डीआइओएस राकेश कुमार के सचल दल ने अचानक छापा मारा। एक कक्ष में तैनात कक्ष निरीक्षक खिड़की से बाहर मोबाइल पर पर्ची फेंकते हुए दूसरे कमरे में भागा। सचल दल के सदस्यों ने उसकी तलाशी ली तो और नकल सामग्री बरामद हुई। कक्ष में गए तो परीक्षार्थियों ने खिड़कियों से बाहर नकल फेंकना शुरु कर दिया। दूसरे कमरे में पहुंचे तो परीक्षार्थी घेरा बनाकर नकल करते मिले।

सभी कमरों में यही स्थिति मिली। टीम के सदस्य खिड़की के बाहर पहुंचे और नकल उठाकर सील कर दी। केंद्र व्यवस्थापक की ओर से नकल कराने वाले कक्ष निरीक्षक शाहनबाज खान, शिशुपाल, खुशबू जहां, श्वेता सक्सेना, गुलनारा बेगम, नूर एन बेगम के बयान लेकर रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। बिना डीआइओएस की मुहर वाला पहचान पत्र के साथ व मोबाइल से नकल कराने वाले मिन्हाज उद्दीन को पुलिस के सुपुर्द कर दिया गया। उसके पास से मिले मोबाइल में प्रश्नों के उत्तर मिले।

मोबाइल नंबर से सॉल्वर की जांच: फर्जी कक्ष निरीक्षक के पास से मिले मोबाइल से किसी दूसरे व्यक्ति से सवालों का जवाब मांगा जा रहा था। उस नंबर की पहचान कर ली गई है। परीक्षा केंद्र पर नकल में सहयोग करने वाले उस नंबर के मालिक पर जल्द ही कार्रवाई की जाएगी।

सोशल मीडिया पर छाया रहा मुद्दा: सामूहिक नकल पकड़े जाने के बाद मामला सोशल साइट्स पर छाया रहा। लोगों ने फेसबुक, गूगल, ट्विटर व अन्य साइट्स पर कॉलेज की मान्यता ही छीन लेने की बात कही। उन्होंने कहा कि छात्र-छात्रओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ करने वाले ऐसे कॉलेजों के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए। सूत्रों के अनुसार मामले की जानकारी मुख्यमंत्री तक भेजी गई है।

यह भी पढ़ें: जेईई की मुख्य परीक्षा दो को, इलाहाबाद व वाराणसी में केंद्र

सफेदपोश की सरपरस्ती में हो रही थी नकल: कॉलेज में पकड़ी गई नकल का खेल एक बड़े सफेदपोश की सरपरस्ती में चल रहा था। सूत्रों के अनुसार एक सफेदपोश के परिवार की एक छात्र इसी इंटर कॉलेज में हाईस्कूल की सामाजिक विज्ञान की परीक्षा दे रही है। जैसे ही टीम ने छापेमारी की तो टीम इस सफेदपोश ने कई बार फोन लगाकर वापस चले जाने को कहा।

यह भी पढ़ें: इलाहाबाद में हाईस्कूल के अंतिम अहम इम्तिहान में भी नकल

सबसे पहले बोर्ड परीक्षा और परिणाम के अपडेट्स पाने के लिए यहां रजिस्टर करें - 

http://www.jagranjosh.com/results

Posted By: amal chowdhury