प्रयागराज, जागरण संवाददाता। उत्तर प्रदेश लोकसेवा आयोग पीसीएस 2016 के तहत खाली रह गए प्राचार्य पदों पर भर्ती कराएगा। इसकी प्रक्रिया शीघ्र शुरू होगी। यह आश्वासन आयोग के अध्यक्ष डॉ. प्रभात कुमार ने अभ्यर्थियों को दिया है। बुधवार को यूपीपीएससी कार्यालय में अध्यक्ष ने अभ्यर्थियों से मिलकर उनकी समस्याएं सुनी।

प्रयागराज, रायबरेली, अमेठी सहित अनेक जिलों से आए अभ्यर्थियों ने उन्हें अपनी समस्याओं से अवगत कराया। अभ्यर्थी धनंजय द्वेदी के अनुसार प्राचार्य के खाली पदों का मुद्दा उन्होंने उठाया। रायबरेली से आए एलटी ग्रेड अभ्यर्थी अखिलेश विश्वकर्मा ने बताया कि वह अभी शैक्षिक दस्तावेज जमा नहीं कर पाए हैं। इसके लिए उन्हें एक माह का अतिरिक्त समय चाहिए। इस पर अध्यक्ष ने उन्हें नियमानुसार समय देने का भरोसा दिया। वहीं, एलटी ग्रेड के तहत अंग्रेजी विषय के कुछ अभ्यर्थियों का प्रवेश पत्र खो गया था। अनुक्रमांक भी उन्हें याद नहीं था। वह अपना परिणाम जानना चाह रहे थे। उन्हें मौके पर ही परिणाम दिखा दिया गया।

10 प्रतिशत आरक्षण की मांग

सहायक अभियोजन अधिकारी भर्ती परीक्षा 2018 में गरीब सवर्णो को 10 प्रतिशत आरक्षण देने की मांग की गई। अमेठी से आए कालिका प्रसाद मिश्र ने अध्यक्ष से कहा कि उक्त भर्ती में गरीब सवर्णो के लिए 10 प्रतिशत आरक्षण नहीं दिया गया है। अध्यक्ष ने उन्हें बताया कि गरीब सवर्णो को आरक्षण देने का नियम बनने से पहले भर्ती का विज्ञापन जारी हो गया था, इसलिए उसमें आरक्षण नहीं दिया जा सकता।

अध्यक्ष से स्थिति स्पष्ट करने की मांग

भ्रष्टाचार मुक्ति मोर्चा के बैनर तले बुधवार को प्रतियोगी छात्रों की आमसभा हुई। वक्ताओं ने पीसीएस परीक्षा में आवेदन की आयुसीमा न घटाने के लिए लोकसेवा आयोग अध्यक्ष से विज्ञप्ति जारी करके स्थिति स्पष्ट करने की मांग की गई। मोर्चा अध्यक्ष कौशल सिंह ने कहा कि सचिव पहले भी गलत बयानबाजी करते रहे हैं, इसलिए छात्रों को उनके बयान पर भरोसा नहीं है। अध्यक्ष स्वयं पूरी स्थिति स्पष्ट करें।

Posted By: Neel Rajput

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस