प्रयागराज, जागरण संवाददाता। लंबित प्रतियोगी परीक्षाओं व रिजल्ट को पटरी पर लाने की दिशा में उत्तर प्रदेश लोकसेवा आयोग (यूपीपीएससी) तेजी से बढ़ रहा है। इसके मद्देनजर सालों से लंबित रिजल्ट को लगातार जारी करने की तैयारी है। जनवरी के अंत व फरवरी माह में एक के बाद एक कई महत्वपूर्ण परीक्षाओं के रिजल्ट जारी किए जाएंगे। इसमें पीसीएस प्री 2019 व सहायक कुलसचिव परीक्षा 2018 का रिजल्ट भी शामिल है, जबकि पीसीएस मेंस 2018 का रिजल्ट अप्रैल से पहले यानी मार्च के अंत तक जारी किया जाएगा।

पेपर लीक, नकल होने जैसी घटनाओं के चलते बीते कुछ सालों से यूपीपीएससी की परीक्षाएं विवादों में थीं। इसके चलते कोई परीक्षा तय समय पर नहीं हुई, न ही उसका रिजल्ट जारी हुआ। अतीत की खामियां दूर करके भविष्य की राह सुगम बनाने के लिए यूपीपीएससी परीक्षा कैलेंडर को जमीनी स्तर पर लागू करने की कवायद कर रहा है। इसके तहत आरओ/एआरओ मेंस परीक्षा 2016 व 2017, एसीएफ मेंस 2018, सम्मिलित अवर अभियंता 2013 का साक्षात्कार, पीसीएस मेंस 2018, पीसीएस प्री 2019, प्रवक्ता राजकीय इंटर कॉलेज स्क्रीनिंग परीक्षा 2015 व 2017, सहायक कुलसचिव परीक्षा 2018, प्रोग्रामर ग्रेड वन, ग्रेड बी व ग्रेड टू परीक्षा 2019, प्रवक्ता राजकीय डिग्री कॉलेज स्क्रीनिंग परीक्षा 2017 आदि का रिजल्ट तेजी से जारी किया जाएगा।

यूपीपीएससी ने फरवरी माह के अंत तक सारे रिजल्ट जारी करने का लक्ष्य निर्धारित किया है। साथ ही 2020 के परीक्षा कैलेंडर के अनुरूप सारी परीक्षाएं तय तारीख पर कराई जाएंगी। आयोग के सचिव जगदीश बताते हैं कि मौजूदा समय कई महत्वपूर्ण परीक्षाओं का रिजल्ट तैयार कराया जा रहा है। जो रिजल्ट तैयार हो जाएगा उसे तत्काल जारी किया जाएगा।

अभ्यर्थी बोले, अब नहीं चलेगा केस डायरी का बहाना

रिजल्ट जारी कराने के लिए महीनों से अधिकारियों का चक्कर काट रहे एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती परीक्षा 2018 के हिंदी व सामाजिक विज्ञान विषय के अभ्यर्थियों ने विरोध का स्वर तेज कर दिया है। एलटी समर्थन मोर्चा के बैनर तले उत्तर प्रदेश लोकसेवा आयोग के गेट पर शनिवार को क्रमिक अनशन जारी रहा। अनशन स्थल पर सैकड़ों अभ्यर्थी दिनभर डटे रहे। अनशनकारी अभ्यर्थियों ने एक स्वर में रिजल्ट जारी कराने की मांग की। बोले, ‘आयोग अध्यक्ष हमें केस डायरी के नाम पर गुमराह नहीं कर पाएंगे। अब केस डायरी का बहाना नहीं चलेगा’।

उत्तर प्रदेश लोकसेवा आयोग द्वारा 29 जुलाई 2018 को 15 विषयों की एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती की लिखित परीक्षा कराई थी। इसमें से 13 विषय का रिजल्ट जारी हो चुका है, लेकिन पेपर लीक होने के चलते हंिदूी व सामाजिक विज्ञान विषय का रिजल्ट रुका है। सामाजिक विज्ञान में 1854 व हंिदूी में 3284 पदों की परीक्षा कराई गई है। दोनों विषयों के अभ्यर्थी रिजल्ट जारी करने की मांग कर रहे हैं। मोर्चा अध्यक्ष शेर सिंह, संयोजक विक्की खान व प्रतिनिधि अनिल उपाध्याय ने कहा कि हाईकोर्ट ने आयोग को केस डायरी देने से मना कर दिया है। साथ ही कहा है कि बिना केस डायरी के वह रिजल्ट जारी कर सकते हैं। ऐसी स्थिति में अब रिजल्ट रोकना अनुचित है। महिला मोर्चा अध्यक्ष अर्पणा पांडेय ने कहा कि रिजल्ट रोकना हजारों प्रतियोगियों के साथ अन्याय है।

Posted By: Neel Rajput

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस