MP Board 10th Result 2020: एमपी बोर्ड 10वीं के नतीजों में जो छात्र जो इस बार मध्य प्रदेश बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (MPBSE) 10वीं परीक्षा में उत्तीर्ण नहीं हुए हैं, उन्हें निराश या हताश होने की जरुरत नहीं है। उनके पास पूरक (सप्लीमेंटरी) परीक्षा का विकल्प है। बता दें कि पूरक परीक्षाओं की तिथि बोर्ड द्वारा बाद में तय की जाएगी। इसके साथ ही पूरक परीक्षाओं को लेकर विस्तृत जानकारी भी जारी की जाएगी। एमपी बोर्ड ने कुछ वक्त पहले 10वीं का रिजल्ट जारी किया है। परीक्षा में कुल  62.84%, छात्रों ने सफलता हासिल की है। वहीं कुल 25  छात्रों ने मेरिट में जगह बनाई है। वहीं अगर पिछले साल से रिजल्ट की तुलना करें तो इस बार नतीजे बेहतर रहे हैं। पिछले साल कुल 61. 32 स्टूडेंट्स ने सफलता हासिल की थी। वहीं इस बार यह प्रतिशत में बढ़ोत्तरी हुई है।  

ने 10वीं के नतीजे जारी कर दिए हैं। इसके साथ ही टॉपर्स की लिस्ट भी सामने आ गई है। इस बार 10वीं में कुल 15 छात्रों ने टॉप किया है। इनमें अभिनव शर्मा, लक्षदीप धाकड़, प्रियांश रघुवंशी, पवन भार्गव, चतुर कुमार, हरिओम पाटीदार, राजनंदिनी सक्सेना, सिद्धार्थ नाथ शेखावत, हर्ष प्रताप सिंह, कविता लोधी, मुस्कान मालवीय, देवांशी रघुवंशी, कर्णिका मिश्रा, प्रशांत विश्वकर्मा, वेदिका विश्वकर्मा हैं। इन सभी ने 100 प्रतिशत अंक हासिल किए हैं।

यह भी पढ़ें: MP 10th Result Girls Pass Percentage: एमपी बोर्ड 10वीं परीक्षा 2020 में 65.87 प्रतिशत लड़कियां सफल

यह भी पढ़ें: MP Board 10th Result 2020 Boys Pass Percentage: एमपी बोर्ड 10वीं परीक्षा में 60.09 प्रतिशत लड़के हुए सफल घोषित

 एमपी बोर्ड 10वीं के नतीजों में इस बार भी लड़कियों ने बेहतर प्रदर्शन किया है। 65.87 फीसदी लड़कियों ने सफलता हासिल की है, जकि 60.09 फीसदी छात्र ही पास हो पाए हैं। बोर्ड ने 10वीं परीक्षा के नतीजे जारी करने के साथ-साथ टॉपर्स की लिस्ट भी जारी कर दी है। इस बार भिंड के अभिनव शर्मा ने टॉप किया है। अभिनव ने 300 में 300 अंक हासिल किए हैं। इसके अलावा पहले स्थान पर दो अन्य छात्र रहें। इनमें गुना के लक्षदीप दानकर और पवन भार्गव दोनों ने ही परीक्षा में 300 अंक हासिल किए हैं। वहीं 10वीं की परीक्षा में कुल 62.84%, छात्रों ने सफलता हासिल की है।

बोर्ड ने नतीजे ऑफिशियल वेबसाइट mpbse.nic.in के साथ-साथ mpbse.nic.in , mpresult.nic.in और mpbse.mponline.gov.in पर जारी किए गए हैं। इसके साथ ही परीक्षार्थी जागरणजोश (jagranjosh.com) पर भी अपना परिणाम देख सकते हैं।  नतीजों की राह देख रहे स्टूडेंट्स ऑफिशियल वेबसाइट पर अपने एडमिट कार्ड में मौजूद जानकारी जैसे नाम, रोल नंबर सहित अन्य विवरण की मदद से चेक कर सकते हैं। बता दें कि इस बार 10वीं के छात्रों को दो विषयों में जनरल प्रमोशन दिया गया है।

वहीं कोरोना वायरस महामारी की वजह से लगे लॉकडाउन के कारण इस वर्ष एमपी बोर्ड 10वीं के मार्कशीट के लिए छात्रों को इंतजार करना होगा। परिणाम जारी होने के बाद बोर्ड द्वारा छात्रों की मार्कशीट जारी की जाएगी। लेकिन, मार्कशीट की हार्डकॉपी स्कूल खुलने के बाद ही प्राप्त हो सकेगी। बता दें कि 10वीं के छात्र जो परीक्षा दे चुके हैं, उनके आधार पर रिजल्ट तैयार किया गया है। जबकि रद्द किए गए विषयों के लिए मार्कशीट पर केवल पास लिखा होगा।

छात्र-छात्राएं इस बात का ध्यान रखें कि रिजल्ट चाहें जैसा भी आए लेकिन इससे घबराना नहीं है, क्योंकि यह जिंदगी का अंतिम पड़ाव नहीं है। दसवीं के परिणाम केवल आपको करियर में एक दिशा देते हैं लेकिन आपका भविष्य तय नहीं करते। इसलिए इस नतीजे जारी होने के बाद नवर्स न हों। रिजल्ट घोषित होने में एक से भी कम घंटे का वक्त बचा है तो इसलिए जरूरी है कि छात्र-छात्राएं अपना एडमिट कार्ड निकाल कर रख लें और उस पर लिखे रोल नंबर सहित अन्य डिटेल को अपने पास ही रखें, क्योंकि जैसे नतीजे वेबसाइट पर लाइव होंगे, आप आसानी से अपने नतीजे चेक कर पांएगे। मार्कशीट की हार्डकॉपी के लिए करना होगा इंतजार

MP Board 10th Result Toppers & Pass Percetage 2019: 

मध्य प्रदेश बोर्ड कुछ देर बाद रिजल्ट की घोषण कर देगा। वहीं अगर पिछले साल यानी कि 2019 की बात करें तो 10वीं का रिजल्ट 61.32 फीसदी रहा था। 10वीं में लड़कियों ने लड़कों की अपेक्षा बेहतर प्रदर्शन किया था। एमपी बोर्ड 10वीं में 63.69% लड़कियां और 59.15% लड़के पास हुए थे।

बता दें कि साल 2019 में छात्र-छात्राओं में किसने किया था बेहतर प्रदर्शन। एमपी बोर्ड ने 10वीं और 12वीं दोनों कक्षाओं में छात्राओं ने बेहतर प्रदर्शन किया था। 10वीं क्लास में दो छात्रों ने संयुक्त रुप से टॉप किया था। इनमें से एक टॉपर का नाम गगन दीक्षित था, जो सरस्वती शिशु मंदिर हाईस्कूल, गोरझामर, सागर के छात्र थे। वहीं पहले नंबर के दूसरे टॉपर आयुष्मान ताम्रकर हैं जो शासकीय बहु.उ.मा.उत्कृष्ट विद्यालय, सागर के छात्र थे। बता दें कि केवल टॉप 10 रैंक तक के बीच कुल 144 बच्चे थे। ऐसा इसलिए, क्योंकि बहुत से छात्र-छात्राओं ने एक समान अंक हासिल किया था। पिछले वर्ष दूसरे स्‍थान पर दीपेंद्र कुमार अहिरवार रहे थे, जिन्होंने 500 में 497 अंक (99.4 प्रतिशत अंक) प्राप्त किया था। इसके बाद तीसरे स्‍थान पर कुल 6 परीक्षार्थी थे।

 Madhya Pradesh MPBSE Class 10th results today: यहां चेक करें समय 

मध्य प्रदेश बोर्ड की ओर से आयोजित परीक्षा में करीब 11.5 लाख स्टूडेंट्स शामिल हुए थे। स्टूडेंटस ध्यान दें कि नतीजे mpbse.nic.in. के साथ-साथ mpresults.nic.in, mpbse.mponline.gov.in पर भी देख सकते हैं। बता दें कि एमपी बोर्ड ने 3 से 27 मार्च के बीच परीक्षा आयोजित की थी। बोर्ड ने दो विषयों की परीक्षाएं कोविड-19 की वजह से रद्द कर दी थीं। अब रिजल्ट अब तक हुईं परीक्षा के आधार पर जारी किया जा रहा है।

 MP Board 10th result 2020: रिजल्ट ऐसे कर पाएंगे चेक

एमपी बोर्ड की ओर से 10वीं के नतीजे जारी होने के बाद रिजल्ट चेक करने के लिए सबसे पहले छात्र-छात्राएं ऑफिशियल वेबसाइट mpbse.nic.in पर जाएं। इसके बाद होम पेज पर दिख रहे MP Board Result 2020 Class 10th पर क्लिक करें। अब आपके सामने एक नया पेज ओपन हो जाएगा। अब यहां अपना रोल नंबर सहित पूरी डिटेल एंटर करें। रिजल्ट अब आपकी स्क्रीन पर प्रदर्शित हो जाएगा। रिजल्ट की कॉपी सेव करने के बाद उसका प्रिंटआउट आगे के लिए रख लें।

 मध्य प्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल नतीजों की घोषणा दोपहर 12 बजे ऑफिशियल वेबसाइट mpbse.nic.in पर जारी करेगा। ऐसे में जो भी परीक्षार्थी शामिल हुए थे, वे आधिकारिक वेबसाइट पर अपना स्कोर चेक कर पाएंगे। बता दें कि इस साल 10वीं की परीक्षा में करीब 11 लाख से ज्यादा परीक्षार्थी परीक्षा में शामिल हुए थे। वहीं दसवीं और 12वीं की परीक्षाओं को मिलाकर कुछ स्टूडेंट्स की बात करें तो कुल 19 लाख से ज्यादा परीक्षार्थी परीक्षा में शामिल हुए हैं। इस बार बोर्ड दसवीं और बारहवीं के नतीजे अलग-अलग जारी कर रहा है। इस साल कोविड-19 संक्रमण के कारण सै‍द्धांतिक/प्रायोगिक परीक्षा आयोजित नहीं होने के कारण उक्‍त विषय के सैद्धांतिक, प्रायोगिक भाग में उत्‍तीर्ण घोषित। इस विषय के अंकों को परीक्षाफल गणना में शामिल न‍ही किया गया है। 

एमपी के 10वीं के रिजल्ट में होगा ये बड़ा बदलाव

एमपी बोर्ड की 10वीं की परीक्षा के परिणाम में इस बार बड़ा बदलाव हो सकता है। बोर्ड द्वारा 10वीं में बेस्ट ऑफ 5 के बजाय बेस्ट ऑफ 4 को आधार बनाया जा सकता है। अर्थात, अब 4 विषयों के नंबर के आधार पर छात्रों को पास किया जाएगा। बता दें कि कोरोना वायरस महामारी की वजह से इस बार हिंदी विशिष्ट और उर्दू विशिष्ट के पेपर नहीं हो सके थे।

छात्र हेल्पलाइन नंबर पर पूछ सकते हैं अपने सवाल 

परीक्षा परिणाम को लेकर छात्रों में उत्साह और डर, दोनों भाव रहते हैं। ऐसे बच्चों की काउंसिलिंग करने के लिए एमपी बोर्ड ने एक हेल्पलाइन नंबर जारी किया है। छात्र टोल फ्री नंबर 18002330175 पर आसानी से अपने सवालों के जवाब प्राप्त कर सकते हैं। हेल्पलाइन नंबर पर रिजल्ट कितने बजे आएगा, रिजल्ट कैसे देख पाएंगे, क्या इस बार मेरिट लिस्ट जारी होगी जैसे सवाल पूछे जा सकते हैं। वहीं, बेस्ट ऑफ़ फाइव, प्रोजेक्ट नंबर, ग्रेस नंबर या बोनस नंबर से जुड़े सवाल भी पूछे जा सकते हैं।

स्टूडेंट्स इस बात का ध्यान रखें कि अभी तक बोर्ड की तरफ से कोई आधिकारिक सूचना जारी नहीं की गई है कि नतीजे कब आएंगे। इसलिए स्टूडेंट्स किसी भी तरह की भ्रम की स्थिति से बचने के लिए केवल ऑफिशियल वेबसाइट पर लेटेस्ट अपडेट देखते रहें। 10वीं के छात्र ध्यान दें कि इस साल उनके जो दो पेपर नहीं हो पाए थे, उनके बारे में सीएम मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा थाा कि आयोजित परीक्षाओं के आधार पर कक्षा 10 के परिणाम तैयार किए जाएंगे। रद्द किए गए विषयों के लिए, छात्रों को उनकी मार्कशीट पर केवल 'पास' लिखा हुआ मिलेगा। दरअसल इस बार मार्च में फैली महामारी कोरोना वायरस की वजह से लॉकडाउन हो गया था। इसी वजह से परीक्षाएं स्थगित कर दी गई थीं। इसके बाद एमपी बोर्ड ने कोविड-19 के बढ़ते मामलों को देखते हुए परीक्षाओं को रद्द करने का फैसला कर लिया था।

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस