नई दिल्ली, अनुराग मिश्र। कोरोना से लड़ने के लिए हर कोई अपने स्तर पर मुहिम चला रहा है। ऐसी ही एक मुहिम आईआईटी के टॉपर रहे कुछ छात्रों ने संस्थान के ही पुराने छात्रों के साथ मिलकर शुरू की है। आईआईटी के ये छात्र घर बैठे नीट और जेईई की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए मुफ्त में डाउट सेशन चला रहे हैं, ताकि इन युवा छात्रों का उचित मार्गदर्शन हो और उपयुक्त तैयारी के अभाव में उनके सपने उनसे दूर न चले जाएं।

आईआईटी गुवाहटी के पूर्व छात्र रवि निशांत के स्टॉर्टअप एडविजो में आईआईटी प्रवेश परीक्षा के टॉपर छात्र प्रतियोगी परीक्षा नीट और जेईई की तैयारी कर रहे बच्चों के लिए 'डाउट सेशन' चला रहे हैं। एडविजो के आउटरीच ऑफिसर उल्लास एम एस ने बताया कि हमने प्रतियोगी परीक्षा नीट और जेईई की तैयारी कर रहे छात्रों की तैयारी से जुड़ी समस्याओं को दूर करने के लिए सेशन चला रहे हैं। हम जूम के द्वारा 1 घंटे का लाइव सेशन चलाते हैं, जिसमें हर छात्र की परेशानी का हल दिया जाता है। हमने इसे 10 मई से शुरू किया है।

प्रत्येक विषय (फिजिक्स, केमिस्ट्री, मैथ्स, बायोलॉजी) के लिए 1 घंटे का सेशन होता है। एक सेशन में आठ से 12 छात्रों को बुलाते हैं, ताकि उनसे बेहतर तरीके से संवाद किया जा सके और उनके संदेह दूर हो सकें। इन सेशन में 28 आईआईटी जेईई के टॉपर मौजूद होते हैं। सोमवार से शनिवार तक यह सेशन सुबह 9 बजे से शाम 7 बजे तक चलता है।

उल्लास ने बताया कि कोई भी व्यक्ति सुबह 6 बजे से शाम 4 बजे तक आधिकारिक व्हाट्सअप नंबर +91 70022 55622 पर अपने डाउट्स भेज सकता है। इसके बाद उन प्रश्नों को छांटा जाता है और हमारी टीम (आईआईटीयन, डॉक्टर और सीनियर सब्जेक्ट एक्सपर्ट्स) को दे दिया जाता है। उल्लास ने कहा कि एक तरफ जहां ज्यादातर ऐप या पोर्टल सिर्फ छात्रों को पढ़ा रहे हैं, वहीं हम छात्रों के संदेह भी दूर कर रहे हैं। इसके अलावा, हम वीकेंड में छात्रों के करियर से जुड़ी उलझनों को दूर करने के लिए आईआईटी, आईआईएम, एम्स और आईएएस अधिकारियों द्वारा सेशन कराने की योजना बना रहे हैं। उन्होंने बताया कि बीते 6 दिनों में 1296 छात्रों द्वारा हमें 1941 छात्रों की समस्याएं मिली हैं, जिनमें से 537 समस्याओं का समाधान दिया गया है।

लर्नफ्लिक्स ऐप दूर करेगा समस्या

एस चांद पब्लिशर्स ने लर्नफ्लिक्स ऐप लॉन्च किया है। इसके द्वारा क्लास 6 से 10 तक की गणित और विज्ञान की बेहतर तरीके से पढ़ाई की जा सकती है। यह ऐप सीबीएसई, आईसीएसई और अन्य स्टेट बोर्ड के सिलेबस के अनुरूप है। इसमें अनलिमिटेड प्रैक्टिस टेस्ट है। साथ ही एनीमेटेड वीडियो, क्विज, रिविजन नोट, सैंपल पेपर आदि की भी सुविधाएं हैं। एस चांद पब्लिकेशन के एमडी हिमांशु गुप्ता ने कहा कि यह ऐप बच्चों के साथ-साथ टीचरों के लिए भी फायदेमंद है। टीचर इसका इस्तेमाल रिमोट टीचिंग के लिए कर सकते हैं। 

Posted By: Vineet Sharan

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस