नई दिल्ली, एजुकेशन डेस्क। CBSE Class 10, 12 Term 1 Results 2022: सीबीएसई टर्म- 1 रिजल्ट का इंतजार अब बढ़ता ही जा रहा है। संभावना जताई जा रही थी कि बीते दिनों में यानी कि जनवरी में 24 तारीख को 10वीं, 12वीं के रिजल्ट घोषित हो सकते हैं। लेकिन ऐसा नहीं हुआ है। वहीं सीबीएसई बोर्ड की तरफ से कोई स्पष्ट तारीख भी नहीं बताई गई है। वहीं मीडिया रिपोर्ट में एक बार फिर, उम्मीद जताई जा रही है कि परिणाम फरवरी के पहले सप्ताह में घोषित किया जा सकते हैं। एक मीडिया संस्थान से बातचीत में अधिकारियों ने यह भी बताया कि इस बात की यह भी संभावना है कि अंक आधिकारिक वेबसाइट cbseresults.nic.in और cbse.gov.in पर जारी नहीं किए जाएं।

हालांकि, परिणाम की अधिसूचना आधिकारिक वेबसाइट पर जारी की जाएगी, दरअसल, सीबीएसई के आईटी सेल के करीबी सूत्रों ने मीडिया संस्थान से स्पष्ट किया है कि उन्हें वेबसाइट पर परिणाम अपलोड करने के संबंध में कोई जानकारी नहीं मिली है। वहीं एक अन्य सूत्र ने यह भी सुझाव दिया है कि यह संभव है कि सीबीएसई केवल छात्रों के अंक संबंधित स्कूलों को भेज दें। हालांकि स्टूडेंट्स इस बात का पूरा ध्यान रखें कि, वे सिर्फ और सिर्फ आधिकारिक वेबसाइट पर नोटिफिकेशन जारी होने का इंतजार करें, जिससे उन्हें रिजल्ट की सही तारीख मालूम पड़ सके।

पहले 24 जनवरी को रिजल्ट जारी होने का था दावा 

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (Central Board of Secondary Education, CBSE) सीबीएसई टर्म 1 परिणाम 2022 10वीं और 12 वीं के प्रतीक्षित परिणाम जल्द जारी करेगा।  मीडिया रिपोर्ट में संभावना जताई जा रही है कि बोर्ड 24 जनवरी को परिणाम जारी कर सकता है। हालांकि, सीबीएसई बोर्ड ने टर्म 1 परिणाम 2022 तिथि और समय पर कोई आधिकारिक बयान नहीं दिया है लेकिन मीडिया रिपोर्ट में कुछ सूत्रों के हवाले से संकेत दिया गया है कि परिणाम 24 जनवरी को जारी किया जा सकता है। ऐसे में छात्रों को कंफ्यूजन की स्थिति से बचने के लिए सलाह दी जाती है कि वे तिथि की ताजा अपडेट के लिए आधिकारिक वेबसाइट cbse.gov.in या cbseresults.nic.in पर विजिट करते रहें।

इसके अलावा सीबीएसई ने हाल ही में आधिकारिक वेबसाइट पर टर्म 2 के सैंपल प्रश्न पत्र जारी किए हैं। वहीं यह परीक्षाएं मार्च-अप्रैल 2022 में आयोजित की जाएंगी। सीबीएसई बोर्ड की परीक्षाओं को पहली बार दो सेक्शन में बांटा गया है। इसके मुताबिक, टर्म 1 और टर्म 2। बोर्ड ने देश में महामारी की स्थिति को देखते हुए यह कदम उठाया है। स्टूडेंट्स ध्यान दें कि टर्म 2 परीक्षा पहले फेज से अलग होगी, क्योंकि यह सब्जेक्टिव आधारित परीक्षा होगी और इसका समय भी बढ़ाया जाएगा।

वहीं पिछले साल यानी कि साल 2020 में तो सीबीएसई ने COVID-19 के कारण बोर्ड परीक्षाओं को रद्द कर दिया था। पीएम मोदी की अध्यक्षता वाली मीटिंग में बोर्ड परीक्षा को कैंसिल किया गया था। इसके बाद एक अलग फॉर्मूले के माध्यम से छात्रों का मूल्यांकन किया था। हालांकि, कई छात्र अपने बोर्ड परीक्षा परिणाम से संतुष्ट नहीं थे और कुछ ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका भी दायर की थी। छात्रों और अभिभावकों के बीच इस मुश्किल को दूर करने के लिए सीबीएसई ने परीक्षा के इस पैटर्न की शुरुआत की है। 

Edited By: Nandini Dubey