रांची, राज्य ब्यूरो। अवैध खनन में मनी लांड्रिंग के तहत अनुसंधान कर रही ईडी ने फरार चल रहे पंकज मिश्रा के सहयोगी दाहू यादव की गिरफ्तारी की कोशिश शुरू कर दी है। अब ईडी की विशेष अदालत से यह केंद्रीय जांच एजेंसी दाहू यादव के लिए गैर जमानतीय वारंट लेने की कोशिश करेगी। दाहू यादव 18 जुलाई से लापता है। इसके बाद से ही ईडी ने तीन-तीन समन भेजा, लेकिन वह ईडी कार्यालय में उपस्थित नहीं हो सका। अब दाहू यादव की गिरफ्तारी के लिए ईडी ने साहिबगंज पुलिस से भी संपर्क कर सहयोग मांगा है।

अवैध खनन सिंडिकेट का प्रमुख सदस्य

दाहू यादव साहिबगंज में अवैध पत्थर खनन सिंडिकेट का प्रमुख सदस्य है। ईडी ने कुछ दिन पहले ही उसका एक मालवाहक जहाज जब्त किया था, जिसकी कीमत करीब 30 करोड़ रुपये बताई जा रही है। ईडी के हाथों गत 19 जुलाई को गिरफ्तार मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के बरहेट विधानसभा क्षेत्र के विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा के बाद फरार चल रहे उनके एक अन्य सहयोगी बच्चू यादव को गिरफ्तार कर ईडी जेल भेज चुकी है। बच्चू यादव व दाहू यादव पंकज मिश्रा के सबसे खास सहयोगियों में शामिल रहे हैं।

दूसरा साथी बच्चू यादव है गिरफ्तार

पंकज मिश्रा की गिरफ्तारी के बाद ही ईडी ने दोनों को समन किया था, लेकिन वे ईडी से भागे चल रहे थे। इसी बीच ईडी को सूचना मिली थी कि लालपुर के वर्द्धमान कंपाउंड में बच्चू यादव पहुंचा हुआ है। गुप्त सूचना पर ईडी की टीम ने बच्चू यादव को पकड़ा और जेल भेजा। बच्चू यादव को रिमांड पर लेकर भी ईडी ने छह दिनों तक पूछताछ की थी।

मां की बीमारी का बहाना बचता रहा

ईडी सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार दाहू यादव ने 18 जुलाई को ईडी को अपने अधिवक्ता के माध्यम से सूचना भेजी थी कि उनकी मां की तबीयत खराब है, इसलिए वे फिलहाल ईडी के सामने उपस्थित नहीं हो सकेंगे। हालांकि, उसके कुछ दिनों के बाद तक भी दाहू सामने नहीं आए तो ईडी ने फिर समन किया। एक-एक कर तीन समन भेजे गए, तब दाहू ने ईडी को ईमेल कर वक्त की मांग की, जिसे ईडी ने अस्वीकार कर दिया है। अब दाहू की गिरफ्तारी की प्रक्रिया शुरू होनी है।

Edited By: M Ekhlaque