कमल किशोर, जालंधर। बर्मिंघम कामनवेल्थ गेम्स में रजत पदक जीतने वाले भारतीय हाकी टीम में शानदार प्रदर्शन करने वाले जालंधर के खिलाड़ी कप्तान मनप्रीत सिंह, मनदीप सिंह व वरुण कुमार शनिवार रात 3 बजे घर गांव मिट्ठापुर लौट आए। सुबह तीनों खिलाड़ियों का गांव वालों का शानदार स्वागत किया। मिट्ठापुर के गुरुद्वारे में उन्हें सम्मानित किया गया। इस मौके पर जालंधर कैंट के विधायक परगट सिंह भी मौजूद रहे।

कप्तान मनप्रीत सिंह, खिलाड़ी मनदीप सिंह और वरुण कुमार ने बताया है कि आस्ट्रेलिया के खिलाफ हार से टीम में गहरी निराशा है। विपक्षी टीम का डिफेंस काफी मजबूत था जबकि भारतीय टीम का डिफेंस काफी कमजोर रहा। उन्होंने कहा कि भारतीय टीम वैसी हाकी नहीं खेल पाई जैसी वह पहले खेलती थी। टीम में युवा खिलाड़ी थे। 

फाइनल में छह बार की कामनवेल्थ पदक विजेता आस्ट्रेलिया ने पहले दो क्वार्टर में ही 5-0 से बढ़त बनाकर भारतीय टीम को दबाव में ला दिया था। इसके बाद भारतीय खिलाड़ी उभर नहीं पाए और अंततः भारत को 7-0 से करारी शिकस्त खानी पड़ी।

बर्मिंघम कामनवेल्थ गेम्स में रजत पदक जीतने वाली भारतीय हाकी टीम के सदस्य कप्तान मनप्रीत सिंह, मनदीप सिंह और वरुण कुमार का गांव मिट्ठापुर में शानदार स्वागत किया गया।

उन्होंने कहा है कि आस्ट्रेलिया ने पहले और दूसरे क्वार्टर में गोलों की बढ़त बना ली थी। इसके बाद भारतीय टीम के खिलाड़ियों का हौसला पस्त हो गया था। हालांकि फिर भी भारतीय टीम गोल करने के लिए संघर्ष करती रही। अब टीम जनवरी में होने वाले विश्व कप हॉकी कप में टीम शानदार प्रदर्शन करेगी और देश के लिए स्वर्ण पदक जीतकर लाएगी।

वर्ल्ड कप में शानदार प्रदर्शन करेगी टीम

तीनों खिलाड़ियों ने कहा कि भारत ने वर्ष 1975 में विश्व हाकी कप जीता था। उसके बाद कप नहीं जीत पाया था। टीम आने वाले वर्ल्ड कप में टीम बढ़िया प्रदर्शन करेगी। टीम ने जूनियर वर्ल्ड कप अपने नाम किया है। अब सीनियर वर्ल्ड कप में तमगा जीतना लक्ष्य है।

Edited By: Pankaj Dwivedi