बीसीसीएल को मिले 11 कोल मिनिस्टर्स अवार्ड

जासं, धनबाद : आज के समय में भी कोयला अर्थव्यवस्था और राष्ट्र की ऊर्जा आवश्यकताओं को बढ़ावा देने वाले सबसे महत्वपूर्ण कारकों में से एक है। इसलिए सभी को आगे आकर पूरे उत्साह के साथ सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना होगा। ये बातें गुरुवार को कोयला मंत्री प्रल्हाद जोशी ने दिल्ली में कोल इंडिया लिमिटेड की सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाली अनुषंगी कंपनियों के लिए आयोजित कोल मिनिस्टर्स अवार्ड समारोह के दौरान कही। यह पुरस्कार वर्ष 2021-22 के लिए प्रदान किया गया। इस समारोह में बीसीसीएल को 11 पुरस्कार मिले। समारोह में मौजूद बीसीसीएल सीएमडी समीरन दत्ता, तकनीकी निदेशक संजय कुमार सिंह ने महाप्रबंधकों की टीम के साथ यह पुरस्कार प्राप्त किया। मंत्रालय स्तर पर बीसीसीएल को एक साथ 11 पुरस्कार मिलने पर कोयला कर्मियों में काफी खुशी है। वहीं सीसीएल व ईसीएल सहित कई कंपनियों को भी विभिन्न श्रेणी में पुरस्कार मिला। पुरस्कार वितरण समारोह में कोयला सचिव डा. अनिल जैन, कोल इंडिया चेयरमैन प्रमोद अग्रवाल, कोल इंडिया डीपी विनय रंजन, सीसीएल सीएमडी पीएम प्रसाद सहित कई कंपनी के अधिकारी मौजूद थे।

हर हाल में हासिल करेंगे लक्ष्य : चेयरमैन

कोल इंडिया चेयरमैन प्रमोद अग्रवाल ने कहा कि हमें उत्पादन को लेकर हमेशा सचेत रहना होगा। हम सबको अपना लक्ष्य निर्धारित कर कार्य करना चाहिए। तभी हम उत्पादन के लक्ष्य को पूरा कर पाएंगे। उन्होंने कहा कि इन पुरस्कारों के लिए उत्पादन के साथ-साथ सुरक्षा व गुणवत्ता भी बेहतर हो, यह जरूरी है। कोयला कर्मचारियों को प्रोत्साहित करने के लिए ऐसे पुरस्कार सहायक सिद्ध होते हैं।

कोयला कर्मचारी को समर्पित यह पुरस्कार : कोयला सचिव

कोयला सचिव डा. अनिल जैन ने कहा कि ये पुरस्कार कोल इंडिया के प्रत्येक कर्मचारी को समर्पित हैं, क्योंकि वित्तीय वर्ष 2021-22 की उपलब्धियों को एक मील के पत्थर के रूप में लंबे समय तक याद रखा जाएगा।

बीसीसीएल को इन क्षेत्र में मिला पुरस्कार

सुरक्षा - तीसरा पुरस्कार

उत्पादन व उत्पादकता - तीसरा पुरस्कार

गुणवत्ता - दूसरा पुरस्कार

मध्यम क्षेत्र - ब्लाक टू कतरास, सिजुआ, लोदना, कुसुंडा, बस्ताकोला

छोटे क्षेत्र – पुटकी बलिहारी, पश्चिमी झरिया

Edited By: Jagran