संवाद सूत्र, सिंहेश्वर (मधेपुरा) : बीएन मंडल विवि अंतर्गत टीपी कालेज में प्रधानाचार्य प्रो. (डा.) कैलाश प्रसाद यादव ने ध्वजारोहण किया। उन्होंने कहा कि कालेज का गौरवशाली इतिहास रहा है। नंबर वन की उपाधि के साथ टीपी कालेज बीएनएमयू का गौरव है। कालेज शैक्षणिक उन्नति की दिशा में तेजी से अग्रसर हैं। यहां इंफ्रास्ट्रक्चर की कोई कमी नहीं है। लेकिन पठन-पाठन को दुरूस्त करने और शिक्षकों को शोध में प्रवृत होने की जरूरत है। इस ऐतिहासिक शिक्षण केंद्र में विज्ञान व कला संकाय के 15 विषयों यथा-भौतिकी, रसायन शास्त्र, जंतु विज्ञान, गणित, अर्थशास्त्र, राजनीति विज्ञान, मनोविज्ञान, इतिहास, दर्शनशास्त्र, हिदी, मैथली, संस्कृत व उर्दू में इंटरमीडिएट, स्नातक(प्रतिष्ठा) व स्नातकोत्तर स्तरीय पठन पाठन व शोध कार्य की व्यवस्था है। कालेज के स्मार्ट क्लास रूम में नियमित रूप से वर्ग संचालन और परिचर्चाओं, गोष्ठियों व सेमिनार का आयोजन होता है। यहां विश्वविद्यालय अनुदान आयोग(यूजीसी), नई दिल्ली द्वारा त्रिवर्षीय विज्ञान प्रतिष्ठा स्तरीय बिटीएसपी वोकेशनल कोर्स का सफलता पूर्वक संचालन हो रहा है। कालेज का एक बड़ा खेल मैदान और स्वास्थ्य वर्धन सेहत वाटिका बन कर तैयार है। कालेज में राष्ट्रीय सेवा एनएसएस की तीन ईकाई सक्रिय। सेहत केंद्र का संचालन हो रहा है। स्वच्छ व सुरक्षित वाई फाई युक्त टीपी कालेज परिसर में छात्राओं की सुरक्षा के लिए हर जगह सीसीटीवी कैमरा है। छात्रों के लिए कैंपस में ही बैंक व डाकघर, कैंटीन के अलावा हर सुविधा उपलब्ध। इस अवसर पर एनसीसी पदाधिकारी ले. गुड्डू कुमार के नेतृत्व में गार्ड आफ आनर दिया गया। वहीं उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले विद्यार्थियों को पुरस्कृत भी किया गया। इस अवसर पर पूर्व प्रधानाचार्य डा. रामभजन प्रसाद मंडल, डा. सुरेश प्रसाद यादव, डा. परमानंद यादव, डा. केपी यादव, डा. सचिद्र महतो, डा. कपिलदेव प्रसाद, डा. राजीव रंजन, डा. जगदेव प्रसाद यादव, डा. बीएन विवेका, डा. पंकज कुमार, डा. मनोज कुमार रंजन, प्रो. आरपी राजेश, डा. सुरेश प्रसाद यादव, बीपी यादव, डा. मिथिलेश कुमार आरिमर्दन, डा. वीणा कुमारी, डा. सुधांशु शेखर आदि उपस्थित थे।

Edited By: Jagran