आरा, जागरण संवाददाता। भोजपुर जिले के नारायणपुर थाना क्षेत्र के चासी गांव स्थित समुदायिक भवन पूर्वी टोला में शुक्रवार की रात एक बालक की गला दबाकर हत्या कर दी गई। उसके मुंह में भूसा भरा था। एक हाथ टूटा हुआ है। उसके गले पर भी निशान पाए गए हैं। शव मिलने के बाद गांव में सनसनी फैल गई। परिवार वालों के विलाप से वहां मौजूद लगों की आंखें भी नम हो गई। मृतक बच्‍चा 10 वर्षीय  बिट्टू कुमार नारायणपुर थाना क्षेत्र के चाची गांव वार्ड नंबर 10 निवासी समुंदर सिंह का पुत्र था। पुलिस ने शव का पोस्‍टमार्टम करा स्‍वजनों को सौंप दिया है। परिवार के लोग किसी से दुश्‍मनी से इंकार कर रहे हैं।

पढ़ने के लिए शाम में निकला था बिट्टू 

बिट्टू के बड़े चाचा शारदा सिंह ने बताया कि शुक्रवार शाम करीब पांच बजे बिट्टू घर से ट्यूशन पढ़ने के लिए निकला था। काफी देर बीत जाने के बाद जब वह घर वापस नहीं लौटा तो परिवार के लोग उसे खोजने निकले। लेकिन वह को‍चिंग वाले शिक्षक के यहां भी नहीं था। परिवार के लोग हैरान-परेशान होकर हर जगह उसकी तलाश करने लगे। समय के साथ अनहोनी की आशंका से वे सहमे जा रहे थे। खोजबीन के क्रम में रात 10 बजे गांव के ही पूर्वी टोला स्थित सामुदायिक भवन से उसका शव बरामद किया गया। शव देखने के बाद परिवार के लोगों का धैर्य जवाब दे गया। बच्‍चे के मुंह में भूसा भरा था। गले पर निशान और एक हाथ बांह के पास टूटा हुआ था। मासूम के साथ की गई बेरहमी देख लोग सन्‍न रह गए। इसकी सूचना पु‍लिस को दी गई।    

किसी से दुश्‍मनी से परिवार का इंकार 

शारदा सिंह ने गांव में किसी भी व्यक्ति से किसी प्रकार की दुश्मनी एवं विवाद की बातों से साफ इंकार किया है। उन्होंने अपने भतीजे की गला दबाकर हत्या किए जाने का आरोप लगाया है। लेकिन, उन्होंने किसी भी व्यक्ति पर किसी प्रकार की आशंका नहीं जतायी है। जबकि, पुलिस द्वारा बनाए गए मृत्यु समीक्षा रिपोर्ट के अनुसार मृत बालक की मौत किसी व्यक्ति द्वारा गला दबाकर हत्या करना प्रतीत होना दर्शाया गया है।

Edited By: Vyas Chandra