लखनऊ, जेएनएन। Ayodhya Ram Mandir : उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने धार्मिक पर्यटन को लेकर बड़ी योजना को मूर्त रूप भी प्रदान किया है। वाराणसी के श्रीकाशी विश्वनाथ कारिडोर (ShriKashi Vishwanath Corridor) के दो चरण के बाद मिर्जापुर में विंध्यधाम कारिडोर (VindhyaDham Corridor) का निर्माण कार्य भी प्रारंभ है।

अब सरकार ने रामनगरी अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि कारिडोर (Shri Ram Jannambhoomi Mandir Corridor) का काम प्रारंभ करने की तैयारी कर ली है। सरकार ने इसके लिए पहली किश्त के रूप में 107 करोड़ रुपया भी जारी कर दिया है। रामनगरी अयोध्या में नौ सौ करोड़ की लागत से श्रीराम जन्मभूमि कारिडोर का निर्माण कार्य होगा।

रामनगरी अयोध्या (Ayodhya) में इस धनराशि से सरकार पहले तो सड़कों की सूरत बदलेगी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi) ने पांच अगस्त 2020 को अयोध्या में श्रीराम के भव्य मंदिर के निर्माण कार्य का शिलान्यास किया था। वहां पर राम मंदिर के निर्माण का कार्य काफी तेजी से प्रगति पर है। श्रीराम जन्मभूमि कारिडोर के पहले चरण के कार्य में अयोध्या की सड़कों को सुंदर बनाने के साथ उनका चौड़ीकरण किया जाएगा। सड़कों को सुविधाजनक बनाने के साथ ही वन वे ट्रैफिक की भी तैयारी की जा रही है।

वाराणसी के काशी विश्वनाथ धाम कारिडोर की तर्ज पर अयोध्या  में श्रीराम जन्मभूमि मंदिर गलियारा बनेगा। इसके तहत राममंदिर की ओर जाने वाली मुख्य सड़क चौड़ी कर उसका सुंदरीकरण किया जाएगा। अयोध्या में बनाये जा रहे श्रीराम जन्मभूमि मंदिर तक श्रद्धालुओं के आवागमन को सुगम बनाने और मुख्य सड़क से बेहतर कनेक्टिविटी देने के लिए योगी आदित्यनाथ सरकार (Yogi Adityanath Government) ने अयोध्या में सहादतगंज-नयाघाट मेन स्पाईन रोड के निर्माण का निर्णय किया है।

राममंदिर जाने वाले तीनों मार्गों

अयोध्या में राममंदिर जाने वाले तीनों मार्गों को रामपथ, जन्मभूमि पथ व भक्ति पथ के रूप में विकसित किया जाना है। सहादतगंज-नयाघाट मार्ग को रामपथ, सुग्रीव किला से रामजन्मभूमि को जन्मभूमि पथ व शृंगारहाट से श्रीराम जन्मभूमि को भक्ति पथ का नाम दिया गया है। रामनगरी में मंदिर के निर्माण कार्य के लिए शिलान्यास के बाद से ही देश के साथ विदेश से भी रामलला के दर्शनार्थियों की संख्या में लगातार वृद्धि हो रही है। ऐसे में भक्तों के लिए जनसुविधाएं विकसित करने की भी जरूरत को देखते हुए सबसे पहले राममंदिर के इन तीनों पहुंच मार्गों को विकसित किया जाएगा।

रनवे के निर्माण का कार्य तेजी पर

श्रीराम अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट के लिए जमीन के अधिग्रहण के बाद से रनवे के निर्माण का कार्य तेजी पर है। यहां पर 40 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है। दिसंबर तक रनवे बन जाएगा। इसके बाद इसके विस्तार के लिए फेज-2 और फेज-3 के लिए भी जमीन के अधिग्रहण का 99 फीसदी पूरा हो गया है। जल्द ही एयरपोर्ट के दूसरे चरण का भी काम शुरू होने की उम्मीद है। निर्माण कार्य एयरपोर्ट अथारिटी आफ इंडिया की देखरेख में हो रहा है।

योगी आदित्यनाथ सरकार ने रामनगरी अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि के आस-पास के क्षेत्र को भी बेहद दिव्य तथा भव्य रूप देने की योजना बनाई है। जिसे श्रीराम जन्मभूमि कारिडोर नाम दिया गया है। इस कार्य को समय से पूरा करने के लिए लोक निर्माण विभाग ने जिला प्रशासन को निर्देश भी जारी किया है।  

Edited By: Dharmendra Pandey

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट