'शिक्षा के साथ अन्य क्षेत्रों में भी पारंगत हों बालिकाएं'

संवाद सहयोगी, भोगनीपुर : देश को स्वतंत्र कराने में महिलाओं ने भी स्वतंत्रता संग्राम में शामिल होकर अपनी कुर्बानी दी। बालिकाओं को शिक्षा के साथ ही साथ अन्य सभी क्षेत्रों में पारंगत होना चाहिए। यह बात अमरौधा ब्लाक के गौर गांव स्थित कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय में शनिवार को आजादी का अमृत महोत्सव के तहत आयोजित समारोह में डीएम नेहा जैन ने कहीं।

डीएम ने कहा कि आगे बढ़ने के लिए लक्ष्य निर्धारित करना चाहिए और उन्नति के शिखर पर पहुंचने के लिए पूरी मेहनत व लगन से प्रयास करना चाहिए। मेहनत करने वालों को सफलता अवश्य मिलती है। एसपी सुनीति ने कहा कि देश का भविष्य बनाने में महिलाओं का महत्वपूर्ण स्थान है। महिलाओं और बालिकाओं को देश का भविष्य संभालने के लिए अनुशासित होकर प्रयास करना चाहिए। अनुशासन ही किसी भी व्यक्ति के उन्नति का मार्ग प्रशस्त करता है। सीडीओ सौम्या पांडेय ने कहा कि सफलता पाने के लिए समय का सदुपयोग करते हुए लक्ष्य पर निशाना रखना चाहिए। लक्ष्य, नजरिया और अच्छे विचारों के माध्यम से सफलता अवश्य मिलती है। समारोह में बीएसए रिद्धि पांडेय, एआरटीओ सोमलता यादव, तहसीलदार अनीता शेखर, बीडीओ मैथा महिमा विद्यार्थी, समाज कल्याण अधिकारी प्रज्ञा तिवारी ने भी बालिकाओं को अपनी शिक्षा व जीवन के संस्मरण सुनाकर आगे बढ़ने के लिए प्रेरित किया। समारोह में कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय की बालिकाओं ने सरस्वती वंदना, स्वागत गीत के साथ ही आकर्षक सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए।बीईओ दिनेश त्रिपाठी, वार्डन गोदावरी सचान, कोतवाल राजेश कुमार सिंह, एसआई राकेश कुमार मौजूद रहे। गौर गांव में डीएम व सीडीओ ने भोगनीपुर नए चौराहे पर अमर शहीद अब्दुल हमीद की प्रतिमा पर श्रद्धासुमन अर्पित किए। यहां एसडीएम अजय कुमार राय, नायब तहसीलदार मनीष द्विवेदी, आरआइ अखिलेश कुमार, लेखपाल अभिषेक भांती, ग्राम प्रधान अब्दुल अनीश, नदीम मौजूद रहे।

Edited By: Jagran