गाजीपुर, जागरण संवाददाता। ईडी यानी प्रवर्तन निदेशालय की टीम ने गुरुवार को तड़के पांच बजे के करीब गाजीपुर के सांसद अफजाल अंसारी और उनके भाई मुख्तार अंसारी के अन्‍य करीबियों के अलावा करीब आधा दर्जन स्थानों पर छापेमारी की कार्रवाई कर अवैध संपत्तियों की जानकारी हासिल की। इस दौरान जिले भर में मुख्तार और अफजाल अंसारी के करीबियों में खलबली मची रही। जानकारी के अनुसार आगे भी कार्रवाई होगी और ईडी के निशाने पर अन्‍य लोग भी आ सकते हैं।

गुरुवार को तड़के ईडी की टीम ने एक साथ सांसद अफजाल अंसारी के मुहम्मदाबाद फाटक आवास, गाजीपुर शहर में मुख्तार अंसारी के करीबी चंदननगर में गणेश मिश्रा, टाउनहाल पर रहने वाले खान बस मालिक के मुमताज खान और मिश्र बाजार में सराफ विक्रम अग्रहरि के आवास पर छापेमारी की। मुहम्मदाबाद में सांसद का आवास में सभी भाइयों का परिवार रहता है। इसमें पूर्व विधायक सिबगतुल्लाह अंसारी, उनका विधायक पुत्र सुहैब अंसारी और मुख्तार का भी परिवार रहता है। हालांकि, मुख्तार का परिवार अधिकांश बाहर ही रहता है, लकिन आवास संयुक्त है।

केंद्रीय सुरक्षा बल की निगरानी में लगभग 15 घंटों तक लगातार यह कार्रवाई चली। इससे जिले भर के मुख्तार और अफजाल के करीबियों में काफी खलबली मची रही। वहीं कार्रवाई की जद में आए विक्रम अग्रहरि अब भाजपा से ज़ुड़ चुके हैं तो दूसरी ओर सराफ विक्रम अग्रहरि पहले अफजाल और मुख्तार की पार्टी कौमी एकता दल से नगरपालिका का चुनाव लड़ चुके हैं। बाद में वह भाजपा में शामिल हो गए थे। पिछले कई साल से भाजपा में की सेवाएं दे रहे हैं। 

वहीं अफजाल अंसारी के आवास पर 15 घंटे तक चली ईडी की कार्रवाई के बाद गुरुवार की देर शाम 7:30 बजे टीम वापस आ गई। अफजाल अंसारी ने इस बाबत बताया कि ईडी की टीम ने उनके कंप्यूटर को चेक किया और कुछ कागजात मांगे। जिसे टीम को उपलब्‍ध करा दिया गया। कंप्‍यूटर से मिले कागजातों में आर्थिक और प्रापर्टी के अलावा अन्‍य निवेश की जानकारियां भी हैं जिसे ईडी की टीम अपने साथ ले गई है। अफजाल ने बताया कि सरकार 2019 की हार को पचा नहीं पा रही है। इसीलिए ऐसी कार्रवाई करा रही है। इस कार्रवाई से उनका हौसला टूटने वाला नहीं है। 

सांसद अफजाल अंसारी की बेटियों की जमीन की कुर्की : जिले के सांसद व मुख्तार अंसारी के बड़े भाई अफजाल अंसारी पर शासन प्रशासन लगातार कार्रवाई करने में जुटा है। ईडी की 15 घंटे की छापेमारी के अगले दिन पुलिस प्रशासन माचा में बेटियों के नाम खरीदी 24 बीघे जमीन की कुर्की के लिए पहुंच गया है।

Edited By: Abhishek Sharma