संवाद सहयोगी,मोगा

ब्लूमिग बड्स स्कूल में ग्रुप चेयरमैन संजीव कुमार सैनी व चेयरपर्सन कमल सैनी की अगुआई में आजादी के 75वें अमृत महोत्सव मुहिम के तहत विद्यार्थियों को राष्ट्रीय ध्वज की जानकारी दी गई।

इस मौके पर पहली, दूसरी व तीसरी कक्षा के विद्यार्थियों की गतिविधि करवाई गई। बच्चे केसरी, सफेद व हरे रंग की पोशाक पहनकर गोल आकार में बैठे और बहुत ही सुंदर नजारा पेश किया। सबसे बाहर वाली लाइन पर बच्चे हाथों में हरे रंग के गुब्बारे लेकर बैठे, दूसरी लाइन पर बच्चे सफेद व तीसरी लाइन में बच्चे केसरी रंग के गुब्बारे लेकर बैठे थे। चेयरपर्सन कमल सैनी ने विद्यार्थियों को कहा कि हमारा तिरंगा जिसमें केसरी, सफेद व हरे रंग की पट्टियां है तथा मध्य में नीले रंग का अशोक चक्र है, इसके हर एक रंग की अपनी एक महत्ता है। उन्होंने कहा कि तिरंगे में सबसे ऊपर केसरी रंग होता है, जो कि बलिदान व कुर्बानियों का प्रतीक है। ये दर्शाता है कि लाखों ही देशभक्तों ने अपना जीवन बलिदान करके यह तिरंगा हासिल किया है। तिरंगे में सफेद रंग शांति व अहिसा का प्रतीक है जो यह संदेश देता है कि हमें किसी से भी बैर भाव नहीं रखना चाहिए। तिरंगे में सबसे नीचे हरा रंग है जो कि हरियाली, खुशहाली व तरक्की का प्रतीक है। तिरंगे के मध्य अशोक चक्र अखंडता व सफलता को दर्शाता है। प्रिसिपल डा. हमीलिया रानी ने बच्चों को संदेश दिया कि राष्ट्रीय ध्वज को तिरंगा भी कहा जाता है यह सभी देशवासियों की शान है। यह तिरंगा हमारे आत्म सम्मान का प्रतीक है। इस मौके पर समूह स्टाफ व विद्यार्थी मौजूद थे।

Edited By: Jagran