आगरा, जागरण संवाददाता। जन्माष्टमी के अवसर पर जहां घर-घर पूजा-अर्चना की धूम है तो व्रत रखकर फलहार किया जा रहा है। इसका असर बाजार पर दिखाई दे रहा है। फलों के मूल्यों पर महंगाई छाई हुई है तो खीरे के दामों में भी उछाल है। दो दिन पहले 15 रुपये से 20 रुपये प्रति किलोग्राम बिकने वाला खीरा 50 रुपये प्रति किलोग्राम हो गया है। इसका कारण है कि जन्माष्टमी के अवसर पर खीरे का उपयोग पूजन में होता है, जिस कारण मूल्यों में तेजी आई है। वहीं केला, सेब, अनार सहित दूसरे फलों के दामों में भी 10 से 30 रुपये प्रति किलोग्राम तक का अंतर आ गया है। सेब के दाम 50 से 100 रुपये के बीच थे, लेकिन अब छोटे सेब के दाम भी बढ़ गए हैं तो बड़े आकार के दामों में भी उछाल है। नख, केला सहित अन्य फलों के दामों में भी अंतर आया है।

फल, मूल्य

सेब, 80 से 120 रुपये

केला, 40 से 50 रुपये

अनार, 80 से 110 रुपये

नख, 60 से 80 रुपये

पपीता, 40 से 60 रुपये

नोट सभी मूल्य प्रति किलोग्राम में हैं। 

कुछ दालाें के घटे दाम, तो कुछ पर बढ़ोत्तरी बेलगाम

दालों के दामों से रसोई का बजट निर्धारित होता है। दाम बढ़ने से पूरा घर प्रभावित हो जाता है। अगस्त 2021 से अगस्त 2022 तक दलहन के दामों में बड़ा अंतर आया है। राजमा, काबुली चना और अरहर की दाल के दाम तेजी से बढ़े हैं। थोक विक्रेताओं के अनुसार अरहर के दाम गत वर्ष भी उछाल आई थी, 100 तक पहुंचे भी थे। इसके बाद 85 से 90 रुपये प्रति किलोग्राम तक स्थिर हो गए थे। वहीं काबुली चने में काफी तेजी है। ये गत वर्ष 70 से 80 रुपये प्रति किलोग्राम था, लेकिन अब 95 से 110 रुपये प्रति किलोग्राम पहुंच गया है। राजमा के दामों में भी 20 से 25 रुपये का अंतर आया है। वहीं चने और चने की दाल में 10 से 15 रुपये की गिरावट आई है। वहीं मसूर, मंगू के दाम स्थिर बने हुए हैं।

दाल, मूल्य

अरहर, 102-106 रुपये

मूंग धुली, 84-86 रुपये

चना दाल, 58-60 रुपये

मसूर, 72-76 रुपये

काले चने, 55-60 रुपये

काबली चने, 95-110 रुपये

राजमा, 120-130 रुपये

सभी मूल्य रुपये प्रति किलोग्राम में हैं।

Edited By: Tanu Gupta