नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। शेयर बाजार में उतार-चढ़ाव का दौर जारी है। बेंचमार्क बीएसई सेंसेक्स और निफ्टी बुधवार को एक अस्थिर सत्र के बाद एक फ्लैट नोट पर बंद हुए। आईटी और रियल्टी शेयरों में मुनाफावसूली ने मेटल और तेल और गैस शेयरों में प्रॉफिट कम कर दिया। 30 शेयरों वाला बीएसई सेंसेक्स 35.78 अंक या 0.06 प्रतिशत की गिरावट के साथ 58,817.29 पर बंद हुआ, जबकि व्यापक एनएसई निफ्टी 9.65 अंक या 0.06 प्रतिशत बढ़कर 17,534.75 पर बंद हुआ। व्यापारियों ने कहा कि बाजार कारोबारी सत्र के अधिकांश भाग के लिए सीमित रहा, क्योंकि निवेशकों ने कमजोर वैश्विक संकेतों के कारण रिस्क को कम कर लिया।

कौन रहा टॉप गेनर और टॉप लूजर

बजाज फाइनेंस 2.66 प्रतिशत की गिरावट के साथ सेंसेक्स पैक में सबसे टॉप स्थान पर रहा। इसके बाद एनटीपीसी, एचसीएल टेक, विप्रो, एशियन पेंट्स, अल्ट्रा सीमेंट और एसबीआई का स्थान रहा। वहीं, दूसरी ओर टाटा स्टील, भारती एयरटेल, आईसीआईसीआई बैंक, एलएंडटी और इंडसइंड बैंक टॉप गेनर में शामिल रहे।

एशिया में शंघाई, हांगकांग, टोक्यो और सियोल में शेयर बाजार बड़े नुकसान के साथ बंद हुए। वहीं, यूरोप में इक्विटी बाजार मध्य कारोबारी सत्र में मामूली बढ़त के साथ कारोबार कर रहे थे। इस बीच अंतरराष्ट्रीय तेल बेंचमार्क ब्रेंट क्रूड 1.05 फीसदी की गिरावट के साथ 95.30 डॉलर प्रति बैरल पर आ गया। वहीं, विदेशी संस्थागत निवेशक (एफआईआई) भारतीय पूंजी बाजार में शुद्ध खरीदार थे, क्योंकि उन्होंने एक्सचेंज के आंकड़ों के अनुसार सोमवार को 1,449.70 करोड़ रुपये के शेयर खरीदे।

अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया 15 पैसे बढ़कर 79.48 पर हुआ बंद

विदेशी पूंजी प्रवाह पर नजर रखने और कच्चे तेल की कीमतों में नरमी के कारण बुधवार को अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया 15 पैसे की तेजी के साथ 79.48 (अनंतिम) पर बंद हुआ। इंटरबैंक फॉरेक्स मार्केट में, स्थानीय इकाई ग्रीनबैक के मुकाबले 79.59 पर खुली और अंत में 79.48 (अनंतिम) पर बंद हुई, जो अपने पिछले बंद के मुकाबले 15 पैसे की वृद्धि दर्शाती है।

Edited By: Sarveshwar Pathak