Move to Jagran APP

Stock Market Update: सप्ताह के पहले दिन धड़ाम हुआ बाजार, सेंसेक्स 1,200 अंक गिरा; रुपया रिकॉर्ड निचले स्तर पर

Stock Market Update29 अगस्त को स्टॉक मार्केट ओपन होते ही ज्यादातर शेयरों में तेज गिरावट दर्ज की गई। यूएस फेड द्वारा दरों में बढ़ोतरी के ऐलान के बाद सभी एशियाई बाजारों में आज मंदी देखने को मिल रही है।

By Siddharth PriyadarshiEdited By: Published: Mon, 29 Aug 2022 10:01 AM (IST)Updated: Mon, 29 Aug 2022 10:01 AM (IST)
Stock Market Update: Nifty around 17,300, Sensex down 1,200 pts

नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। सप्ताह का पहला कारोबारी दिन भारतीय शेयर बाजार (Stock Market) के लिहाज से शुभ नहीं लग रहा। सोमवार को कमजोर वैश्विक संकेतों का असर भारतीय बाजार पर देखा गया और बाजार खुलते ही सभी सूचकांकों में तेज गिरावट दर्ज की गई। मार्केट ओपन होते ही सेंसेक्स (Sensex) 1,200 अंक नीचे चला गया। वहीं निफ्टी (Nifty) भी 385 अंक लुढ़क गया। खबर लिखे जाने तक सेंसेक्स 1,210.62 अंक या 2.06 फीसद नीचे आकर 57623.25 और निफ्टी 361.50 अंक या 2.06 प्रतिशत नीचे 17197.40 पर था। शुरुआती कारोबार में लगभग 433 शेयरों के दाम बढ़े, 1965 शेयरों में गिरावट आई और 135 शेयरों में कोई बदलाव नहीं हुआ।

loksabha election banner

टेक महिंद्रा, इंफोसिस, एचसीएल टेक्नोलॉजीज, टीसीएस और विप्रो में प्रमुख गिरावट के साथ निफ्टी 50 के सभी शेयर लाल रंग में कारोबार कर रहे थे। हेम सिक्योरिटीज के पीएमएस प्रमुख मोहित निगम ने कहा कि अमेरिका में अधिक आक्रामक दरों में बढ़ोतरी के बढ़ते जोखिम के कारण अन्य प्रमुख एशियाई शेयरों में भी सोमवार को गिरावट आई। 

सिंगापुर एक्सचेंज पर निफ्टी फ्यूचर्स 17,295.50 के स्तर के नीचे कारोबार कर रहा था। कमजोर अमेरिकी बाजारों को देखते हुए एशियाई बाजार निचले स्तर पर कारोबार कर रहे हैं। मध्य सत्र के सौदों में सियोल, टोक्यो, शंघाई और हांगकांग के बाजार लाल निशान पर थे।

क्यों हुई इतनी बड़ी गिरावट

फेड चेयरमैन जेरोम पॉवेल द्वारा मुद्रास्फीति को नियंत्रित करने के प्रयास में दरों में वृद्धि करने के ऐलान के बाद निवेशकों ने नकारात्मक प्रतिक्रिया दी और अमेरिकी बाजार लाल रंग में समाप्त हुए। इसका असर भारतीय बाजार पर भी देखा गया और ज्यादातर शेयर बाजार खुलते ही धड़ाम हो गए। डॉलर इंडेक्स में 109 से ऊपर की तेज वृद्धि हुई। पॉवेल ने जैक्सन होल में केंद्रीय बैंकिंग सम्मेलन में एक भाषण में कहा कि महंगाई में कमी जरूर आएगी लेकिन उसके पहले अमेरिकी अर्थव्यवस्था को कुछ समय के लिए सख्त मौद्रिक नीति की आवश्यकता होगी। यूएस फेडरल ओपन मार्केट कमेटी ने जुलाई के अंत में अपनी प्रमुख नीतिगत ब्याज दर को 75 आधार अंक बढ़ाकर 2.25-2.50 प्रतिशत कर दिया था।

ब्याज दरों में बढ़ोतरी आमतौर पर अर्थव्यवस्था को सुस्त कर देती है। इससे डिमांड में कमी आती है जिससे मुद्रास्फीति दर पर ब्रेक लग जाता है।

टॉप लूजर्स और गेनर्स

अपोलो हॉस्पिटल, हिंदुस्तान लिवर, ब्रिटानिया, मारुति और अल्ट्राटेक सीमेंट के शेयरों में आज तेजी देखने को मिल रही है। वहीं टेक महिंद्रा, इंफोसिस लिमिटेड, एचसीएल टेक और जेएसडब्ल्यू स्टील के शेयरों में गिरावट है।सेंसेक्स पैक में टेक महिंद्रा, इंफोसिस, एचसीएल टेक्नोलॉजीज, विप्रो, टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज, टाटा स्टील और पावर ग्रिड लाल रंग में कारोबार कर रहे थे।

रिकॉर्ड निचले स्तर पर रुपया

भारतीय रुपया (Rupee) सोमवार को करीब 16 पैसे की गिरावट के साथ 80.03 प्रति डॉलर पर खुला। यह 21 जुलाई के बाद पहली बार रिकॉर्ड निचले स्तर पर कारोबार कर रहा है।


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.