नई दिल्ली, पीटीआई। पिछले दो दिन की बढ़त के बाद बुधवार को शेयर मार्केट में गिरावट दर्ज की गई। विदेशी निवेशकों की तरफ से फंड के निकाले जाने की वजह से शेयर बाजार की चाल खराब हुई। साथ ही ग्लोबल मार्केट के कमजोर ट्रेंड्स को गिरावट की वजह माना जा रहा है। 30 शेयरों वाला बीएसई सेंसेक्स 709.54 अंक यानी 1.35 फीसद की गिरावट के साथ 51,822.53 पर बंद हुआ। कारोबार में दिन के दौरान यह 792.09 अंक यानी 1.50 फीसद की गिरावट के साथ 51,739.98 पर पहुंचा था। एनएसई निफ्टी 225.50 अंक यानी 1.44 फीसद गिरकर 15,413.30 पर बंद हुआ।

कैसी से शेयरों में रही गिरावट 

सेंसेक्स के शेयर की बात करें, तो टाटा स्टील, विप्रो, रिलायंस इंडस्ट्रीज, इंडसइंड बैंक, एचसीएल टेक्नोलॉजीज, बजाज फिनसर्व, टाइटन और बजाज फाइनेंस में गिरावट दर्ज की गई। जबकि टीसीएस, एचयूएल, पावरग्रिड और मारुति सुजुकी इंडिया में बढ़ोतरी दर्ज की गई।

एशियाई मार्केट में कैसा रहा कारोबार 

एशियाई मार्केट की बात करें, तो हांगकांग, सियोल, शंघाई और टोक्यो के बाजार निचले स्तर पर बंद हुए। वही यूरोपीय बाजार भी लाल निशान में कारोबार कर रहे थे। जबकि अमेरिकी बाजारों ने मंगलवार को शानदार बढ़त दर्ज की।

सेंसेक्स के शेयर 

Sensex के केवल चार शेयर टीसीएस, हिंदुस्तान यूनिलिवर, पावरग्रिड और मारूति हरे निशान पर रहे। बाकी सारे शेयर में गिरावट दर्ज की गई। सबसे ज्यादा जिस शेयर में गिरावट दर्ज की गई, वो टाटा स्टील था। टाटा स्टील के शेयर में 5.24 फीसद की गिरावट दर्ज की गई।

मंगलवार को कैसा था कारोबार 

बीएसई सेंसेक्स एक दिन पहले 934.23 अंक यानी 1.81 फीसद तक उछला था, जबकि एनएसई निफ्टी 288.65 अंक यानी 1.88 फीसदी चढ़ने में कामयाब रहा। इसी दौरान अंतरराष्ट्रीय तेल बेंचमार्क ब्रेंट क्रूड 4.19 फीसद गिरकर 109.8 डॉलर प्रति बैरल पर आ गया। शेयर बाजार में मंगलवार को कारोबार विदेशी संस्थागत निवेशक (एफआईआई) पूंजी बाजार में विक्रेता बने रहे, क्योंकि उन्होंने मंगलवार को एक्सचेंज के आंकड़ों के अनुसार 2,701.21 करोड़ रुपये के शेयर बेचे।

Edited By: Saurabh Verma