नई दिल्ली, ब्रांड डेस्क। भारत इस साल आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है, यानि हमारी स्वतंत्रता के 75 साल का उत्सव। इन सालों के दौरान हमने हर क्षेत्र में तरक्की की है और अब पूर्ण आत्मनिर्भरता की तरफ कदम बढ़ा रहे हैं। हालांकि कुछ ऐसे क्षेत्र भी हैं जहां हम अभी भी किसी न किसी नुकसान देने वाली सोच के गुलाम बने हुए हैं। निवेश भी एक ऐसा क्षेत्र है जहां लोगों के दिमाग पर कुछ ऐसी सोच हावी है या कहें कि लोग ऐसी सोच से आजाद नहीं हो पा रहे हैं जो उन्हें आगे बढ़ने से रोक रही हैं। इस Independence Day पर आइये ऐसी 3 गलतियों से आजाद होने की दिशा में आगे बढ़ें और अपने भविष्य को और उज्जवल बनाएं।

आज ही शुरू करें अपना शेयर मार्केट का सफर, विजिट करें- https://bit.ly/3n7jRhX

लालच से स्वतंत्रता

Stock Market में अगर कामयाबी चाहिए तो लालच से स्वतंत्र होना ही पड़ेगा. अगर आप लालच में पड़ते हैं तो आप बाजार की सही तस्वीर और सही स्तर नहीं समझ पाएंगे और गलत फैसले ले लेंगे. वहीं लालच की वजह से आप अनजानी सलाहों यहां तक की धोखेबाजों के जाल में जा फंसेंगे. अक्सर छोटे निवेशक कुछ दिनों में रकम के दोगुना या तीन गुना होने की उम्मीद में शेयर में पैसा लगा देते हैं और सब कुछ गंवा भी देते हैं. ध्यान रखें कि अगर आपका निवेश महंगाई दर या सबसे आकर्षक दरों वाली बैंक FD इन दोनों से बेहतर रिटर्न निकाल रहा है तो आप अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं. निवेश को लेकर उम्मीदें ज्यादा व्यवहारिक और वास्तविकता के करीब रखें। और सिर्फ लालच के आधार पर कोई फैसला न लें। 5paisa भी एक ऐसा ही एक्सपर्ट है जो अपने यूजर्स को 4000 से ज्यादा stock research , technical tools, portfolio analytics जैसी सुविधाएं दे रहा है जिससे आम निवेशको का आत्मविश्वास बढ़ता है और किसी भी नकारात्मक संकेतों के बीच वो समय रहते सही फैसला लेने में सक्षम बनते हैं।

डर से आजादी

अगर आपको कुछ हासिल करना है तो आपको साहस दिखाना ही होगा. बाजार के दिग्गज हमेशा कहते हैं कि शेयर बाजार कमजोर दिल वालों के लिए नही होता. और ये कोई कहावत भी नही है क्योंकि शेयर बाजार में ऐसे मामलों की कोई कमी नहीं है जब निवेशकों ने नकारात्मक स्थितियों में आशंकाओं, अफवाहों यहां तक कि घबराहट में की गई टाइपिंग की गलती से भी बड़े नुकसान उठाए हैं. ऐसे में कामयाब निवेशक बनना है तो बेहतर होगा कि आप डर से स्वतंत्र हों. सोचसमझ कर निवेश का फैसला लें और इस फैसले पर भरोसा रखें. अगर परिस्थितियों में आए कुछ बदलाव आपके भरोसे को डिगाने लगे तो पहले बिना डरें स्थितियों की समीक्षा करे उसके बाद अगर आपको लगता है कि आपका फैसला सही है तो डर को हावी न होने दें. समीक्षा के लिए आप किसी एक्सपर्ट्स की सलाह ले सकते हैं.

भेड़चाल से आजादी

आम निवेशकों को अगर बाजार में कामयाब होना है तो उन्हें भीड़ के आधार पर नहीं बल्कि अपने फैसले लेने की आदत होनी चाहिए। सिर्फ इसलिए की बाजार बढ़ रहा है तो निवेश करें या फिर बाजार गिर रहा है तो निवेश निकाल लें आम निवेशकों के द्वारा अपनाई जाने वाली सबसे खराब रणनीति होती है। दरअसल शेयर बाजार किसी भी घटना पर कम या ज्यादा प्रतिक्रिया देता है, भले ही उस घटना का बाजार, सेक्टर या फिर स्टॉक पर सीधा असर हो या न हो। घटना का असर खत्म होते ही एक समय के बाद बाजार खुद को संतुलित कर अपने वास्तविक स्तर पर आने की कोशिश करता है, क्योंकि गंभीर निवेशक बाजार या स्टॉक के वास्तविक मूल्य या फेयर प्राइस के आसपास ही दांव लगाते हैं। ऐसी स्थिति में भीड़ में शामिल निवेशक जिन्होने ऊपरी स्तरों पर निवेश कर दिया है वो बाजार में फंसे रह जाते हैं या फिर गिरावट में निवेश निकाल लेने के बाद बाजार में रिकवरी आने की स्थिति में अपने फैसले पर पछताते हैं। ऐसे में निवेशकों को चाहिए कि वो भेड़चाल से दूर रहें, ठोस वजहों पर निवेश का फैसला लें और जल्दबाजी में आस पास के माहौल से प्रभावित होने से बचें। 5paisa ऐप पर आपको शेयर बाजार से जुड़ी सभी जानकारियां मिलेंगी।

अगर आप भी बाजार में निवेश करना चाहते हैं, तो 5paisa एक ऐसा प्लेटफॉर्म है जहां इन्वेस्टिंग न तो सिर्फ ईजी पर रिवॉर्डिंग भी है। DJ2100 - Coupon Code के साथ बनाइये अपना Demat Account 5paisa.com पर और पाएं ऑफर्स का लाभ। अधिक जानकारी के लिए क्लिक करें- https://bit.ly/3b1BKeX

Note:- यह आर्टिकल ब्रांड डेस्क द्वारा लिखा गया है।

Edited By: Sarveshwar Pathak