पुणे, एएनआइ। मौसम विभाग ने संभावना जताई है कि महाराष्ट्र में 8 जून से मानसून दस्तक दे सकता है। वहीं मानसून से पहले की गतिविधियां 30 मई से शुरू हो सकती हैं। पुणे भारतीय मौसम विभाग के वैज्ञानिक अनुपम कश्यपी ने यह जानकारी दी है।

गुरुवार को आइएमडी ने कहा कि 1 जून को दक्षिण-पश्चिम मानसून की शुरुआत के लिए केरल में परिस्थितियां अनुकूल हैं। कश्यपी ने बताया कि 31 मई से 4 जून के बीच दक्षिण-पूर्व और पूर्वी-मध्य अरब सागर के पास कम दबाव का क्षेत्र बनने की उम्मीद है। केरल में 1 जून को मानसून आगमन के लिए यह स्थिति काफी अनुकूल रहेगी।

मौसम विभाग की तरफ यह भी कहा गया है कि दक्षिण-पश्चिम मानसून मालदीव-कोमोरिन क्षेत्र के कुछ क्षेत्रों, दक्षिण बंगाल की खाड़ी के कुछ हिस्सों और अंडमान सागर एवं अंडमान निकोबार द्वीप समूह के शेष हिस्सों में आगे बढ़ा है। मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक दक्षिण-पश्चिम मानसून और आगे ही बढ़ता जाएगा क्‍योंकि अगले 48 घंटों के दौरान मालदीव-कोमोरिन क्षेत्र के कुछ क्षेत्रों में इसके लिए परिस्थितियां अनुकूल होती जा रही हैं। यह केरल में मानसून के प्रवेश करने और बारिश के मौसम की शुरुआत के लिए शुभ संकेत है।

इन हिस्सों में हो सकती है बारिश

मौसम का हाल बताने वाली निजी एजेंसी स्‍काईमेट वेदर की रिपोर्ट में कहा गया है कि केरल, दक्षिणी-आंतरिक कर्नाटक और तमिलनाडु के कुछ क्षेत्रों में प्री-मॉनसून की बारिश जारी रहेगी। इसके अलावा अंडमान और निकोबार द्वीपसमूह और लक्षद्वीप में भी भारी बारिश की आशंका जताई गई है। वहीं देश के दूसरे हिस्‍सों जैसे हरियाणा, दिल्ली, दक्षिण-पश्चिमी उत्तर प्रदेश और उत्तरी राजस्थान की बात करें तो, इन राज्यों के कुछ हिस्सों में भीषण गर्मी का प्रकोप जारी रह सकता है।

Posted By: Neel Rajput

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस