पुणे, प्रेट्र। महाराष्ट्र में जारी आंदोलन के बीच राज्य के सोलापुर जिले में एक किसान ने कथित रूप से आत्महत्या कर ली है। मरने से पूर्व लिखे पत्र में उसने इच्छा जताई है कि जब तक मुख्यमंत्री उसके घर आकर मांगें पूरी न करें तब तक उसका अंतिम संस्कार न किया जाए।

सोलापुर के कलेक्टर राजेंद्र भोसले ने बताया कि धनाजी जाधव (45) नामक इस किसान ने वीट गांव में अपने घर के नजदीक एक पेड़ से लटककर जान दे दी। उसके परिवार में पत्नी और दो बच्चे हैं। उसके पास 2.5 एकड़ कृषि योग्य भूमि थी। उस पर 60 हजार का कर्ज था जो उसने साहूकारों से भी ऋण लिया था। इस घटना के

बाद किसान संगठनों ने रास्ता रोको अभियान छेड़ दिया और करमाल तहसील में बंद का आह्वान किया है।

स्थिति को बिगडऩे से रोकने के लिए पुलिस टीमें घटनास्थल के लिए रवाना हो गई हैं। बता दें कि मुख्यमंत्री देवेंद्र फडऩवीस ने हाल ही में 31 अक्टूबर तक कर्जमाफी का ऐलान किया था, लेकिन उनकी यह घोषणा आंदोलनकारी किसानों को संतुष्ट नहीं कर पाई।

यह भी पढ़ें: किसानों के समर्थन में आए नाना पाटेकर

Posted By: Babita Kashyap

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप