मुंबई, प्रेट्र। मुंबई के समीपवर्ती जिले रायगढ़ में तटरक्षक हेलीकॉप्टर की क्रैश लैंडिंग के दौरान घायल हुई सह-पायलट की 17 दिन बाद मौत हो गई। इंटरनल ब्लीडिंग के चलते उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था। उल्लेखनीय है कि तटरक्षक बल का चेतक हेलीकॉप्टर 10 मार्च को रायगढ़ में मुरुद के पास दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। सिर में चोट लगने के कारण सहायक कमांडेंट कैप्टन पेनी चौधरी घायल हो गई थीं। उनकी सर्जरी कराई गई थी और इसके बाद उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था। वह दक्षिणी मुंबई के कोलाबा इलाके में स्थित नौसेना के अस्पताल आइएनएचएस अश्विनी में भर्ती थीं।

हरियाणा के करनाल जिले की निवासी पेनी चौधरी 2013 में तटरक्षक बल में शामिल हुई थीं। तटरक्षक पीआरओ (पश्चिम) कमांडेंट अविनंदन मित्रा ने कहा, 'उनकी मंगलवार रात मृत्यु हो गई।' हेलीकॉप्टर के रोटोर से सिर में चोट लगने के कारण कैप्टन चौधरी को इंटरनल ब्लीडिंग हो रही थी।

उल्लेखनीय है कि हाल के महीनों में कई दुर्घटनाएं हुई हैं। कुछ दिन पहले ही ओडिशा जिले में वायुसेना का एक प्रशिक्षु विमान हादसे का शिकार हो गया था। हालांकि विमान के पायलट को चोटें तो आईं लेकिन उसकी जान बच गई थी। इस मामले में सेना की ओर से कोर्टऑफ इंक्वायरी के आदेश दिए गए हैं।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021