PreviousNext

अब 'ब्लू ह्वेल चैलेंज' से बचाया गया नौवीं का छात्र

Publish Date:Sat, 12 Aug 2017 04:03 PM (IST) | Updated Date:Mon, 14 Aug 2017 04:59 PM (IST)
अब 'ब्लू ह्वेल चैलेंज' से बचाया गया नौवीं का छात्रअब 'ब्लू ह्वेल चैलेंज' से बचाया गया नौवीं का छात्र
एक दिन पहले इंदौर में इस गेम के चक्कर में तीसरी मंजिल से कूदकर आत्महत्या करने जा रहे 13 साल के बच्चे को उसके दोस्तों ने बचाया था।

पुणे, प्रेट्र। जानलेवा ऑनलाइन गेम 'ब्लू ह्वेल चैलेंज' से अब नौवीं में पढऩे वाले 14 साल के एक छात्र को बचाया गया है। वह इस गेम में मिले टास्क को पूरा करने के लिए जब गुरुवार को पुणे जा रहा था तो रास्ते में ही पुलिस ने उसे रोक लिया। छात्र महाराष्ट्र के सोलापुर का रहने वाला है। एक दिन पहले इंदौर में इस गेम के चक्कर में तीसरी मंजिल से कूदकर आत्महत्या करने जा रहे 13 साल के बच्चे को उसके दोस्तों ने बचाया था।

 

पुणे जिला पुलिस ने गुरुवार को बताया कि सोलापुर पुलिस की सूचना पर भिगवान में गुरुवार को राज्य परिवहन की एक बस रोकी गई। पुणे आ रही इस बस में छात्र भी सवार था। भिगवान पुलिस स्टेशन के एक अधिकारी ने बताया कि जब किशोर उम्र के छात्र को रोका गया तो वह अपने होश में नहीं था। उसे थाने लाया गया। सूचना मिलने पर उसके कारोबारी पिता पुलिस स्टेशन आए और उसे अपने साथ लेकर चले गए।

 

क्या है ब्लू ह्वेल

रूस में बने ब्लू ह्वेल गेम को खेलने वालों को हर टास्क के बाद ब्लेड से हाथ पर कट लगाने को कहा जाता है। इससे ह्वेल मछली की आकृति बनती है। उन्हें डरावनी फिल्म भी देखने का टास्क दिया जाता है। गेम के 50वें दिन ऊंची इमारत से छलांग लगाने को कहा जाता है।

 

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:Class 9 boy on way to finish Blue Whale challenge rescued(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

शिर्डी में अब साईं भक्तों के लिए मुफ्त वाई-फाई सुविधापुणे से चेन्नई लाकर हुआ फेफड़े का प्रत्यारोपरण