पालघर, प्रेट्र। महाराष्ट्र के पालघर जिले में दो लोगों ने एक निजी बैंक की महिला अधिकारी को मार डाला, जबकि उसकी सहयोगी को घायल कर दिया। हमलावरों में एक इसी ब्रांच का पूर्व मैनेजर है। पुलिस अधिकारी ने शुक्रवार को बताया कि यह घटना आइसीआइसीआइ बैंक की विरार शाखा में गुरुवार रात साढ़े आठ बजे घटी। उस समय बैंक में सिर्फ ये दोनों महिलाएं ही काम कर रही थीं। विरार पुलिस स्टेशन के वरिष्ठ निरीक्षक सुरेश वराडे ने बताया कि दो आरोपितों में एक अनिल दुबे को गिरफ्तार कर लिया गया है। वह पहले उसी ब्रांच में मैनेजर था, जहां यह घटना घटी। उन्होंने कहा, दोनों आरोपित बैंक में घुस गए और असिस्टेंट मैनेजर योगिता वर्तक और कैशियर श्रद्धा देवरुखकर को चाकू दिखाकर धमकाया। उस समय वे दोनों आफिस का काम कर रही थीं।

आरोपितों ने उनसे नकदी और गहना अपने हवाले कर देने को कहा और लूट का माल लेकर फरार होने लगे। उसी समय दोनों महिलाओं ने अलार्म बजा दिया और आरोपितों को रोकने की कोशिश की। इस पर नाराज हमलावरों ने दोनों बैंक कर्मचारियों को चाकू से गोद दिया। वहां पहुंचे लोगों ने दुबे को पकड़ लिया, जबकि उसका सहयोगी भागने में कामयाब रहा। लोग दोनों घायलों को लेकर अस्पताल गए, जहां डाक्टरों ने योगिता को मृत घोषित कर दिया। वराडे ने बताया कि दुबे पहले बैंक की इसी शाखा में काम करता था। उसने एक करोड़ रुपये लोन लिया था। कर्ज चुकाने के प्रयास में उसने बैंक लूटने की साजिश रची।

गौरतलब है कि महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई के दहिसर में बाइक सवार लुटेरों ने ज्वैलर की गोली मारकर हत्या कर दी और सोने के गहने लूट लिए। डीसीपी डीएस स्वामी के मुताबिक, लूट की नीयत से तीन लोगों ने कई राउंड फायरिंग की, जिसमें ज्वैलर की मौके पर ही मौत हो गई। मामला दर्ज और जांच जारी है। एक अधिकारी ने कहा कि एक लुटेरे ने दुकान के मालिक विकास पांडे (46) के सिर में गोली मार दी, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई और दो अन्य सोने के गहने लूटकर फरार हो गए। अधिकारी ने कहा कि लुटेरे ग्रे स्कूटर में भाग गए, जिसकी नंबर प्लेट उन्होंने मोड़ दी थी। 

Edited By: Sachin Kumar Mishra