मुंबई, राज्य ब्यूरो। Maharashtra: राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद पवार ने अपनी ही पार्टी के नेता धनंजय मुंडे पर लगे दुष्कर्म के आरोपों को गंभीर बताया है। धनंजय ने बुधवार को स्वयं पवार से मिलकर उन्हें पूरे प्रकरण से अवगत कराया था। जबकि भाजपा अब भी धनंजय के इस्तीफे की मांग कर रही है। इस बीच, वीरवार को धनंजय मुंडे पर आरोप लगाने वाली महिला का मुंबई के डीएन नगर पुलिस थाने में करीब चार घंटे बयान दर्ज किया गया। शरद पवार ने पत्रकारों से कहा कि धनंजय ने बुधवार को स्वयं मुझसे मिलकर पूरे प्रकरण की विस्तार से जानकारी दी है। मुझे लगता है कि धनंजय पर लगे आरोप गंभीर हैं। हमें इस मुद्दे पर पार्टी में चर्चा करनी होगी।

मैं अपने प्रमुख सहयोगियों से इस पर विस्तार से चर्चा करूंगा और उन्हें विश्वास में लूंगा। उनके विचार जानने के बाद कोई कदम उठाया जाएगा। हम शीघ्र ही कोई निर्णय करेंगे। पवार के इस वक्तव्य को धनंजय मुंडे की कुर्सी के लिए खतरा माना जा रहा है। लेकिन राकांपा के प्रदेश अध्यक्ष जयंत पाटिल ने साफ कर दिया है कि धनंजय के विरुद्ध पुलिस की जांच चल रही है। इसलिए किसी निष्कर्ष पर पहुंचने की जल्दबाजी नहीं की जानी चाहिए। जबकि स्वयं धनंजय ने पत्रकारों से कहा कि पार्टी ने उनसे इस्तीफा देने को नहीं कहा है, न उन्होंने अभी इस्तीफा दिया है। उन्होंने अपनी तरफ से राकांपा अध्यक्ष शरद पवार से मिलकर उन्हें पूरे प्रकरण की जानकारी दे दी है। माना जा रहा है कि एक दो दिन में पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की बैठक में मुंडे के संदर्भ में कोई महत्त्वपूर्ण निर्णय किया जा सकता है।

भाजपा ने धनंजय मुंडे का मांगा इस्तीफा

दूसरी ओर, भाजपा इस मुद्दे को ढील देने के पक्ष में नहीं दिखती। धनंजय मुंडे के विरुद्ध की गई दुष्कर्म की शिकायत को प्राथमिकी में बदलने के लिए दबाव बनाने ओशीवरा थाने पहुंचे भाजपा नेता किरीट सोमैया ने  कहा कि इतने गंभीर आरोप लगने के बाद मुंडे को राज्य मंत्रिमंडल से बाहर किया जाना चाहिए। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल व विधान परिषद में नेता प्रतिपक्ष प्रवीण दरेकर ने भी धनंजय मुंडे के इस्तीफे की मांग की है। वंचित बहुजन विकास अघाड़ी के नेता प्रकाश आंबेडकर ने भी धनंजय मुंडे पर निशाना साधते हुए कहा कि उनके नेता शरद पवार खुद इन आरोपों को गंभीर बता चुके हैं। अब मुंडे को स्वयं तय करना है कि वे इसे गंभीरता से लेते हैं या नहीं। किया गया गुनाह आज नहीं तो कल, बाहर आता ही है। इसलिए मुंडे के लिए निर्णय लेने का यह सही समय है।

दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली महिला के खिलाफ कइयों ने मुंह खोला

राज्य के एक मंत्री धनंजय मुंडे पर दुष्कर्म का आरोप लगाकर सुर्खियों में आई महिला के खिलाफ मुंह खोलने वाले दो-तीन लोग सामने आ गए हैं। इनमें भाजपा के ही एक नेता कृष्णा हेगड़े, मनसे नेता मनीष धुरी व जेट एयरवेज के पूर्व कर्मचारी रिजवान कुरैशी शामिल हैं। कृष्णा हेगड़े ने मुंबई के अंबोली पुलिस थाने के प्रभारी को पत्र लिखकर इस महिला के विरुद्ध हनी ट्रैप की शिकायत दर्ज कराई है। उन्होंने पत्र में लिखा कि महिला मुझसे सन 2010 से संबंध स्थापित करने की कोशिश कर रही है। इस पत्र में हेगड़े ने महिला के उन मोबाइल नंबरों का जिक्र किया है, जिनसे उनके पास महिला मैसेज या फोन करती रही। हेगड़े का कहना है कि उन्हें अपने सूत्रों से पता चला कि वह संदिग्ध महिला है। उसने कुछ और लोगों को भी फंसाने की कोशिश की है। उनके फोन पर उसके संदेश 2015 तक आते रहे।

हेगड़े के अनुसार हाल ही में छह व सात जनवरी, 2021 को भी महिला ने उनके मोबाइल पर मैसेज भेजे थे। इसी प्रकार महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के एक नेता मनीष धुरी ने भी महिला पर हनी ट्रैप की कोशिश का आरोप लगाते हुए कहा है कि वह धनंजय मुंडे होते-होते बच गए। जबकि महिला के वकील रमेश त्रिपाठी का कहना है कि उनके पास ऐसे-ऐसे वीडियो क्लिप हैं, जिनके सामने आने पर सभी के मुंह बंद हो जाएंगे। चूंकि अभी मामले की जांच चल रही है। इसलिए उनकी अधिक जानकारी अभी नहीं दी जा सकती। राजेश त्रिपाठी ने यह आरोप भी लगाया कि धनंजय मुंडे की तरफ से महिला के भाई बृजेश शर्मा व बहन करुणा शर्मा पर दबाव बनाने की कोशिश की जा रही है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021