मुंबई, एएनआइ। महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) प्रमुख राज ठाकरे (Raj Thackeray ) ने बिजली के बढ़े बिल को लेकर राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी (Bhagat singh koshyari) से मुलाकात की। ठाकरे ने बताया कि हमारा प्रतिनिधिमंडल इस मामले में अडानी और बेस्‍ट के अधिकारियों से मिला था। कंपनियां बिल कम करने को तैयार है। राज्‍यपाल इस मामले मुख्‍यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) से मिलकर बातचीत करेंगे।   

 गौरतलब है कि कुछ समय पहले भी राज्‍य में बढ़े हुए बिजली के बिल को लेकर राजठाकरे ने नाराजगी जाहिर की थी। इस मुद़दे पर कई सेलिब्रिटी भी आपत्ति जता चुके हैं। मनसे प्रमुख का कहना है कि कोरोना लॉकडाउन के कारण पहले ही आम आदमी त्रस्‍त है उसकी जेब में पैसा नहीं बचा है, ऐसे में बिजली कंपनियों द़वारा भेजे गए बढ़े हुए बिजली के बिलों ने उनके लिए समस्‍या पैदा कर दी है। आम आदमी के सामने समस्‍या पैदा हो गई है कि वह बिजली का बढ़ा हुआ बिल चुकाये या परिवार के लिए खाने-पीने का इंतजाम करें। बढ़ते हुए बिल का देखकर शहरी व ग्रामीण लोगों में असंतोष पैदा हो गया है। 

राज ठाकरे का कहना है कि इस मामले में सरकार को तुरंत संज्ञान लेना चाहिए। बिजली के बिल में राहत देनी चाहिए और निजी कंपनियों को भी सख्‍त चेतावनी देनी चाहिए, नहीं तो निजी बिजली कंपनियों को करारा झटका लग सकता है। इस समस्‍या को लेकर राज ठाकरे ने मुख्‍यमंत्री उद्धव ठाकरे को भी पत्र लिखा है।  मुख्‍यमंत्री को लिखे पत्र में राज ठाकरे ने कहा है कि  राज्‍य सरकार कोरोना की जंग में एक आवश्‍यक मामले की अनदेखी कर रहा है इस मामले में लोगों की परेशानियां उन तक नहीं पहुंच पा रही है इसलिए महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना इस मामले में सरकार का ध्‍यान आकर्षित करना चाहती है। 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस