मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

मुंबई, एएनआइ। महाराष्ट्र में लगातार हो रही बारिश से लोगों की कठिनाइयां बढ़ती ही जा रही हैं। जगह-जगह पानी भरने से लोग परेशान हैं तो दूसरी तरह बारिश अब जानलेवा साबित हो रही है। मंगलवार को पुणे और मुंबई में अलग-अलग जगहों पर दीवारें गिरने से कुल 22 लोगों की मौत हो गई।

पुणे में दीवार ढहने के मामले में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री फडणवीस ने कहा कि इस हादसे में 6 की मौत हुई है और 4 लोग घायल हुए। वे झारखंड और एमपी के रहने वाले थे। राज्य सरकार उन्हें सभी आवश्यक सहायता देगी। हमने इस मामले में जांच का आदेश दे दिया है। गौरतलब है कि पुणे हादसे में गिरी दीवार काफी पुरानी थी और उस पर पेड़ गिर जाने के कारण दीवार ढह गयी थी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि दोपहर 12 बजे हाई टाइड की उम्मीद है, हम स्थिति पर नजर रखेंगे। कल रात मुंबई पुलिस को लोगों से 1600-1700 ट्वीट मिले, उन्हें तत्काल मदद मिली। बीएमसी आपदा एमजीएमटी ने पूरी रात काम किया। अगले दो दिनों में भारी बारिश की संभावना है। हम इसके लिए तैयार हैं।

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने शताब्दी अस्पताल जाकर मलाड में दीवार गिरने की घटना में जख्मी हुए लोगों का हालचाल जाना। मंत्री योगेश सागर भी उनके साथ मौजूद थे। गौरतलब है कि भारी बारिश के चलते मंगलवार सुबह हुई घटना में 18 लोगों की मौत हुई, तथा 13 अन्य जख्मी हुए। भारी बारिश को देखते हुए मुख्यमंत्री फडणवीस ने स्कूलों, कॉलेजों और कार्यालयों में छुट्टी की घोषणा कर दी थी। पुलिस और बीएमसी लोगों की मदद कर रहीं हैं। कुछ स्थानों को छोड़कर, कुल मिलाकर यातायात नियंत्रण में है।

 

गौरतलब है कि भारी बारिश के कारण मुंबई में कई दुर्घटनाएं हुईं। मलाड में, दीवार ढह गई और कम से कम 13 की मौत हो गई, 30-40 लोग घायल हो गए। रेल पटरियों पर पानी भर गया है जिसे पंप से निकालने का कार्य जारी है।

Posted By: Babita kashyap

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप