मुंबई, एएनआइ। महाराष्ट्र में मंगलवार को कोरोना से 103 लोगों की मौत हो गई और 2287 नए मामले दर्ज किए गए। राज्य में कुल मामलों की संख्या 72,300 हो गई। 1225 रोगियों को आज डिस्चार्ज किया गया है। 31,333 रोगियों को आज तक पूरी तरह से ठीक होने के बाद छुट्टी दे दी गई है।

मुंबई में 49 मौतें और 1109 नए मामले दर्ज किए गए हैं। मुंबई में कुल मामले अब 41986 हो गए हैं, मरने वालों की संख्या 1368 हो गई है।

महाराष्ट्र में बीते 24 घंटे में 2361 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमित मरीजों की संख्‍या बढ़कर 70013 तक पहुंच गयी है। मुंबई में 1413 नए मामले सामने आये और 40 लोगों की मौत दर्ज की गयी। नगर निगम ग्रेटर मुंबई के अनुसार, राजधानी में कुल संक्रमित मरीजों की संख्‍या 40877 तक पहुंच गयी है। 

पुणे में पिछले 24 घंटों में 76 नए मामले सामने आये और आठ लोगों की मौत दर्ज हुई है। पुणे स्‍वास्‍थ्‍य विभाग के अनुसार, यहां कुल संक्रमितों की संख्‍या 7826 तक पहुंच चुकी है और अब तक कुल 345 लोगों की मौत हो चुकी है। बता दें कि रविवार को राज्‍य में 2487 नए मामलों की पुष्टि हुई थी और 89 मौतें दर्ज की गयी थीं। 

वहीं मुंबई के धारावी में रविवार को कोरोना संक्रमण के 38 नए मामले सामने आये थे। बृहन्मुंबई म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन (BMC) के अनुसार रविवार तक इस इलाके में संक्रमित मरीजों की संख्‍या 1771 तक पहुंच गयी थी और कुल 71 लोगों की इस संक्रमण के कारण मौत हो चुकी थी।  

राज्‍य में कोरोना संक्रमण की भयावह स्थिति को देखते हुए, महाराष्ट्र सरकार ने रविवार को लॉकउाउन की अवधि 30 जून तक के लिये बढ़ा दी है। रात 9 बजे से सुबह 5 बजे के बीच आवश्‍यक गतिविधियों को छोड़कर अन्‍य कार्यो पर रोक लगी रहेगी। आठ जून से निजी कार्यालय तो खुलेंगे लेकिन 10 फीसद लोग ही उपस्थित रहेंगे, बाकी लोग घर से ही कार्य करेंगे। 

जिले के अंदर बस सेवाओं को अनुमति दी गयी है लेकिन एक जिले से दूसरे जिले में बस द़वारा जाना संभव नहीं होगा। राज्‍य में धार्मिक स्थल, होटल, रेस्तरां, शॉपिंग मॉल, नाई की दुकानें, स्पा, सैलून और ब्यूटी पार्लर भी अभी बंद रहेंगे। 

मुंबई में कोविड-19 के लिए मानदेय पर डॉक्टर और नर्स होंगे नियुक्‍त 

महाराष्ट्र के चिकित्सा शिक्षा मंत्री अमित देशमुख के अनुसार मुंबई में कोरोना संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए डॉक्टरों और नर्सो को मानदेय के आधार पर रखा जाएगा। देशमुख के अनुसार  सरकार ने यह फैसला इसलिए लिया है, जिससे इस महामारी से संक्रमित रोगियों के इलाज में किसी भी प्रकार की बाधा न आए।

देशमुख के अनुसार इंटर्नशिप पूरी कर चुके डॉक्टर इसके लिए आवेदन कर सकेंगे। इन डॉक्टरों को प्रति माह 80 हजार रुपये मानदेय के रूप में दिया जाएगा। डॉक्टरों के अलावा नर्सों को 30 हजार रुपये प्रति माह के मानदेय पर रखा जाएगा। मानदेय का भुगतान बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) द्वारा किया जाएगा। इसके लिए डॉक्टरों और नर्सो को ऑनलाइन आवेदन करना होगा।'

 

Posted By: Babita kashyap

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस