मुंबर्इ्, एएनआइ। हिंदुत्‍व का झंडा उठाने वाली अब मुसलमानों के आरक्षरण के पक्ष में उतर आई है। शिवसेना के विधायक सुनील प्रभु ने कहा है कि जो पिछड़े हुए घटक हैं, चाहें वे मुस्लिम क्यों न हो, उन्हें आरक्षण देना चाहिए, उनको काम मिलना चाहिए, न्याय मिलना चाहिए, शिवसेना हमेशा अन्याय के खिलाफ लड़ने वाली है। 

उधर, एआइएमआइएम नेता इम्तियाज जलील ने कहा है कि हम सरकार के मराठा आरक्षण के फैसले को चुनौती नहीं देंगे, लेकिन हम नए तथ्यों के साथ कोर्ट जाएंगे और मुस्लिम आरक्षण के लिए मांग करेंगे। बता दें कि इससे पहले एआइएमआइएम के मुखिया असदुद्दीन ओवैसी ने मुस्लिमों के लिए आरक्षण की मांग की थी। उनका कहना था कि मुस्लिम भी आरक्षण के हकदार हैं क्योंकि वह पीढ़ियों से गरीबी में रहे हैं।

गौरतलब है कि महाराष्ट्र में मराठा और गुजरात में पाटीदारों को आरक्षण मिलने के बाद सिर्फ मुस्लिम समुदाय के लोग ही आरक्षण की मांग नहीं कर रहे हैं, बल्कि राजपूत और ब्राह्मण समुदाय के लोग भी अपने लिए आरक्षण की मांग कर रहे हैं। हालांकि उनका कहना है कि आरक्षण देने का आधार जातिगत नहीं बल्कि आर्थिक होना चाहिए।

Posted By: Arun Kumar Singh