मुंबई, राज्य ब्यूरो। आर्यन खान ड्रग केस में राकांपा नेता नवाब मलिक जिस किरण गोसावी को अब तक एनसीबी अधिकारी समीर वानखेड़े का करीबी बताते आ रहे थे, शनिवार को मुंबई के भाजपा नेता मोहित भारतीय ने उसी गोसावी को कई सबूत पेश करते हुए नवाब मलिक की ही पार्टी राकांपा का करीबी सिद्ध करने की कोशिश की। नवाब मलिक ने एक ट्वीट कर इसका जवाब रविवार को देने की बात कही है। पिछले महीने दो अक्टूबर को अभिनेता शाह रुख खान के पुत्र आर्यन खान की एनसीबी द्वारा की गई गिरफ्तारी के दौरान एनसीबी ने किरण गोसावी व उसके ड्राइवर को इस मामले में स्वतंत्र गवाह बनाया था। आर्यन की गिरफ्तारी के तीन दिन बाद ही राकांपा प्रवक्ता नवाब मलिक ने एनसीबी की कार्रवाई के समय किरण गोसावी व मनीष भानुशाली नामक दो व्यक्तियों की मौजूदगी पर सवाल उठाए थे।

तब एनसीबी ने इन दोनों व्यक्तियों को आर्यन मामले में एनसीबी का स्वतंत्र गवाह बताया था, लेकिन नवाब मलिक उसके बाद से लगातार किरण गोसावी को एनसीबी अधिकारी समीर वानखेड़े की प्राइवेट आर्मी का सदस्य बताकर उन्हें घेरते आ रहे हैं। नवाब मलिक ने इन्हीं आरोपों में एक नाम सैम डिसूजा का भी लेते हुए उसे ड्रग तस्कर बताया था। सैम डिसूजा का नाम किरण गोसावी के ड्राइवर द्वारा दिए गए उस हलफनामे में भी आया था, जिसके आधार पर नवाब मलिक एनसीबी अधिकारी समीर वानखेड़े पर आठ करोड़ रुपए वसूली का आरोप लगा रहे हैं। शनिवार को मुंबई के भाजपा नेता मोहित भारतीय ने कुछ नए सबूत पेशकर नवाब मलिक की पार्टी राकांपा को ही कटघरे में खड़ा कर दिया। मोहित ने सुनील पाटिल नामक व्यक्ति को शरद पवार की पार्टी राकांपा का संस्थापक सदस्य बताते हुए कहा कि पाटिल ने एक अक्टूबर को सैम डिसूजा को वाट्सएप संदेश सूचना दी थी कि दो अक्टूबर को मुंबई से गोवा जाने वाले क्रूज कार्डेलिया पर पार्टी होनी है। मेरे पास उन 27 लोगों के नाम हैं, जो इस पार्टी में मादक पदार्थों का इस्तेमाल करने वाले हैं। किसी एनसीबी अधिकारी से मेरी बात करवाओ।

सुनील पाटिल के इस आग्रह पर सैम डिसूजा ने उसकी बात एनसीबी अधिकारी वीवी सिंह से करवाई। तब सुनील पाटिल ने वीवी सिंह से कहा कि मेरा आदमी किरण गोसावी इस पूरे मामले में आपके साथ रहेगा। मोहित भारतीय के अनुसार, सुनील पाटिल के कहे अनुसार ही आर्यन खान की गिरफ्तारी के समय किरण गोसावी आर्यन को खींचकर एनसीबी दफ्तर के अंदर ले जाता व उसके साथ अपनी सेल्फी खींचता दिखाई दे रहा है। मोहित के अनुसार, सुनील पाटिल के संबंध राकांपा के कई वरिष्ठ नेताओं, विशेषकर गृहमंत्रियों से रहे हैं। उसके संबंध पूर्व गृहमंत्री स्वर्गीय आरआर पाटिल व हाल ही में भ्रष्टाचार के आरोप में जेल भेजे गए पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख से भी रहे हैं। वह अनिल देशमुख पर लगे पुलिस अधिकारियों की ट्रांसफर-पोस्टिंग के आरोप में भी उनके साथ शामिल रहा है। अनिल देशमुख के साथ उसकी वीआइपी गेस्ट हाउस सह्याद्रि में बैठकें भी होती रही हैं।

भाजपा नेता ने मुंबई प्रेसक्लब में पत्रकारों से बात करते हुए न सिर्फ सुनील पाटिल की कुछ तस्वीरें साझा कीं, बल्कि उसके आडियो टेप भी सुनवाए। उनके अनुसार, ये सारे सबूत वह शुक्रवार की शाम को ही जांच एजेंसियों को सौंप चुके हैं। उन्होंने सवाल उठाया कि नवाब मलिक का स्पष्ट करना चाहिए कि सुनील पाटिल के उनकी पार्टी के गृहमंत्रियों से क्या संबंध रहे हैं ? मोहित भारतीय द्वारा लगाए गए इन संगीन आरोपों के बाद नवाब मलिक ने फिर ट्वीट कर कहा है कि समीर दाउद वानखेड़े की प्राइवेट आर्मी के एक सदस्य ने लोगों को तथ्यों से भटकाने की कोशिश की है। मैं सच्चाई सामने लाऊंगा। महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक द्वारा एनसीबी अधिकारी समीर वानखेड़े के विरुद्ध चलाई जा रही मुहिम के बाद एनसीबी ने आर्यन खान सहित पांच और मामलों की जांच अब एनसीबी की केंद्रीय इकाई को सौंप दी है। फिलहाल, किरण गोसावी 2018 के जालसाजी के मामले में पुणे पुलिस की गिरफ्त में है।

Edited By: Sachin Kumar Mishra