इंदौर, जेएनएन। Municipal Corporation Indore। इंदौर के बीआरटीएस कारिडोर पर एमआर-9 चौराहे पर हो रहे जलजमाव नगर निगम के लिए सिरदर्द बना गया है। कारिडोर में बारिश के पानी की निकासी की आधी- अधूरी व्यवस्था को ठीक करने के लिए नगर निगम एक करोड़ 31 लाख रुपये खर्च करने को तैयार है।

गौरतलब है कि जब भी तेज बारिश होती है तो शहर के बीआरटीएस कारिडोर के अमर विलास होटल से स्टेट बैंक आफ इंडिया तक के लेन का मिलाजुला हिस्सा जलमग्न हो जाता है। गुरुवार को हुई बारिश में भी सड़क पर जलजमाव होने के कारण कई वाहन चालकों को परेशानी हुई। यही वजह है कि निगम द्वारा कारिडोर के इस हिस्से पर जलजमाव की समस्या के निराकरण के लिए स्टार्म वाटर लाइन डालने की योजना बनाई जा रही है। जोनल अधिकारी धीरेन्द्र बायस के मुताबिक चंद्रलोक चौराहे की ओर से बारिश का पानी बहकर कारिडोर के इस हिस्से पर आता है। इस कारण जलजमाव की स्थिति बनी रहती है।

मालूम हो कि तेज बारिश होने की स्थिति में बीआरटीएस कारिडोर की स्टार्म लाइन पानी निकासी का भाड़ नहीं ले पाता है। इसी कारण यहां जलजमाव भी होता है। ऐसे में अब नगर निगम द्वारा रिंग रोड से चंद्र नगर होते हुए भमोरी नाले तक करीब दो किलोमीटर लंबे हिस्से में स्टार्म वाटर लाइन डाली जाएगी। चंद्रलोक कालोनी व रिंगरोड की ओर से पानी की निकासी के लिए रास्ता बनेगा। अभी इस हिस्से में कोई स्टार्म वाटर लाइन नहीं होने से सारा पानी बीआरटीएस कारिडोर पर आता है। पाइप लाइन डाले जाने से जलजमाव की समस्या खत्म होगी। इसके लिए हमने प्रस्ताव निगम मुख्यालय को भेजा है। 

Edited By: Priti Jha