ग्वालियर [ ब्यूरो ]। नोटबंदी के चलते पैमेंट अटक जाने से परेशान लेबर कांट्रेक्टर रामभजन सिंह उर्फ गुड्डू गुर्जर [ 40 ] ने फांसी लगाकर जान दे दी।

​​​​​तस्वीरों में देखें-नकदी संकट पर बैंकों की मनमानी से जाम होती सड़कें

करिश्मा कॉलोनी निवासी रामभजन सिंह ने निर्माणाधीन भवनों में श्रमिकों को ठेके पर लगाकर काम कराया था। घरवालों का आरोप है कि नोटबंदी के कारण भवन मालिकों से पैमेंट समय पर नहीं मिला। जिन मजदूरों को उन्होंने काम पर लगाया था, वे मजदूरी के लिए दबाव बना रहे थे। इस कारण वह काफी परेशान थे। शुक्रवार रात को खाना खाने के बाद रामभजन सो गए। सुबह जब परिजन जागे तो घर के बाहर बनी टॉयलेट में वह फांसी के फंदे पर लटके मिले।

भट्ठा मजदूर यूनियन ने नोटबंदी के खिलाफ निकाली रैली

जनधन खाते में जमा पैसा अब गरीबों काः पीएम मोदी

तस्वीरों में देखें-नोटबंदी पर पूर्वांचल में बढ़ता आक्रोश, जाम

Posted By: Bhupendra Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस