Move to Jagran APP

Uniform Dress Code: जींस-टी शर्ट में अब नो एंट्री, छात्रों के लिए लागू होने जा रहा ड्रेस कोड; इस राज्य के 55 कॉलेजों में होगी शुरुआत

Madhya Pradesh मध्य प्रदेश के सभी सरकारी कॉलजों में छात्रों के लिए समान यूनिफॉर्म या ड्रेस कोड लागू होगा। राज्य के उच्च शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने मंगलवार को कहा कि ड्रेस कोड लागू हो जाने के बाद किसी भी तरह के अन्य ड्रेस पर प्रतिबंध होगा।बता दें कि हिजाब विवाद के बाद एमपी सरकार ने यह फैसला लिया है।

By Jagran News Edited By: Nidhi Avinash Wed, 10 Jul 2024 12:32 PM (IST)
Uniform Dress Code: जींस-टी शर्ट में अब नो एंट्री, छात्रों के लिए लागू होने जा रहा ड्रेस कोड; इस राज्य के 55 कॉलेजों में होगी शुरुआत
छात्रों के लिए लागू होने जा रहा ड्रेस कोड (Image: File)

एएनआई, भोपाल। Uniform Implemented In MP: मध्य प्रदेश की भाजपा सरकार ने समान यूनिफॉर्म या ड्रेस कोड को लेकर बड़ा फैसला सुनाया है। अब राज्य के सभी सरकारी कॉलेजों में छात्रों के लिए समान यूनिफॉर्म कोड लागू होगा। राज्य के उच्च शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने बुधवार को इसकी घोषणा की है। मंत्री परमार ने कहा कि शुरुआत में यह यूनिफॉर्म सरकारी उत्कृष्ट कॉलेजों में शुरू की जाएगी और बाद में इसे राज्य के सभी सरकारी कॉलेजों में लागू किया जाएगा।

अमित शाह करेंगे कॉलेजों का उद्घाटन

समाचार एजेंसी ANI से बात करते हुए परमार ने बताया, 'जब हमारे देश में राष्ट्रीय शिक्षा नीति (ENP) लागू की गई थी, तो मध्य प्रदेश इसे अपनाने वाले अग्रणी राज्यों में से एक था। मुख्यमंत्री मोहन यादव के नेतृत्व में, हमने राज्य के सभी 55 जिलों में उत्कृष्ट महाविद्यालय स्थापित करने का निर्णय लिया है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह 14 जुलाई को इंदौर से इन कॉलेजों का उद्घाटन करेंगे। नतीजतन, यूनिफॉर्म लागू करने के लिए विभाग में एक प्रक्रिया चल रही है। हमारा लक्ष्य आम सहमति बनाकर जल्द ही ड्रेस कोड को लागू करना है।'

पहले 55 कॉलेजों में होगा लागू

परमार ने आगे कहा कि 'शुरू में हम इन 55 उत्कृष्ट कॉलेजों में यूनिफॉर्म लागू करेंगे, लेकिन बाद में हम धीरे-धीरे इस नीति का विस्तार करेंगे और बाकी बचे कॉलेजों में भी आम सहमति बनाएंगे। उन्होंने आगे कहा कि वे समाज के किसी भी वर्ग की आपत्तियों के बिना आदर्श ड्रेस कोड लागू करने के लिए सभी कारकों पर विचार करेंगे।'

कांग्रेस को आपत्ति नहीं, लेकिन इस बात की चिंता

कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद ने कहा कि यूनिफॉर्म लागू किए जाने पर कोई आपत्ति नहीं है, लेकिन अगर नीति हिजाब को टारगेट करती है या इसे लेकर राज्य भाजपा सरकार की मंशा को दर्शाती है, तो वह इसका विरोध करेंगे। उन्होंने कहा कि अगर कोई ड्रेस कोड के समान रंग का हिजाब पहनता है, तो उसे इसकी अनुमति दी जानी चाहिए। अगर राज्य सरकार ऐसा करती है, तो हम इसका समर्थन करेंगे।'

ड्रेस कोड लागू कैसे होंगे?

  • कॉलेजों में सकारात्मक माहौल बनाने की पूरी होगी कोशिश
  • समाज के सभी वर्ग और सभी छात्र होंगे शामिल। 
  • ड्रेस कोड के महत्व को समझाएंगे।

यह भी पढ़ें: जागरण एक्सप्लेनर: यूनिफॉर्म सिविल कोड से उत्तराखंड में क्या बदलेगा, लिव इन और बहुविवाह के लिए क्या हैं इस कानून में प्रावधान

यह भी पढ़ें: 'Uniform Civil Code की जरूरत पूरा देश महसूस कर रहा है, विपक्षी त्यागें विरोध' पीएम मोदी ने सौ दिनों का एजेंडा..