सतना, जागरण नेटवर्क। उत्तर प्रदेश व मध्य प्रदेश सीमा पर बसे सतना जिले में डकैती की वारदात सामने आई है। जिले के बंगी पुरवा गांव में हीरामन यादव के घर में महिलाओं को बंधक बना डकैती की वारदात को अंजाम दिया। आधा दर्जन से अधिक बंदूकधारियों ने यादव परिवार पर हमला बोलकर घर के मुखिया हीरामन यादव को पीटा और परिवार की महिलाओं को घर में बंधक बनाया। बंदूकधारी जाते समय घर में रखे 50 हजार रुपये भी ले गए। मारपीट में गंभीर रूप से घायल हीरामन यादव को संजय गांधी अस्पताल रीवा में भर्ती किया गया है। वहीं इस मामले में बरौंधा थाना पुलिस ने डकैती के तहत अपराध दर्ज नही किया है। पुलीस ने मात्र साधारण धाराओं में अपराध दर्ज कर डकैत क्षेत्र में हुई इस वारदात को पर्दा डालने की कोशिश की।

पुलिस ने डकैती से किया इनकार

इस मामले में बरौंधा पुलिस का कहना है कि चार आरोपित नामजद किए गए हैं और यह डकैती का मामला नहीं है। वहीं पुलिस का कहना है कि मारपीट में बंदूक का प्रयोग नहीं हुआ है। दूसरी तरफ घायल का बयान भी सामने आया है जिसमें घायल का आरोप है कि घर में घुसे आरोपितों ने बंदूक की बट से मारपीट कर पैसे लूटे।

पांच से अधिक अपराधी होने पर डकैती का मामला 

उल्लेखनीय है कि किसी भी लूट और मारपीट के मामले में पांच या पांच से अधिक अपराधी होते हैं तो वह डकैती का मामला बन जाता है। यह घटना दस्यु प्रभावित क्षेत्र में हुई है जिसके कारण इस मामले में भी एंटी डकैत एक्ट के तहत प्रकरण पुलिस द्वारा दर्ज किया जाना था। पीड़ित के अनुसार, इस वारदात में लगभग आठ लोग आरोपित थे। लेकिन बरौंधा पुलिस ने चार आरोपितों की संख्या के अनुसार प्रकरण दर्ज कर केस को साधारण बना दिया। पीड़ित ने अपने और परिवार के साथ हुए अन्याय पर कार्रवाई की मांग की है

Edited By: Aditi Choudhary