Move to Jagran APP

MP News: प्रदेश के बड़े शहरों में अब 24 घंटे गुलजार रहेंगे बाजार, लेकिन ये दुकानें तय समय पर ही होगी बंद

मध्य प्रदेश के बड़े शहरों में मॉल रेस्टोरेंट आईटी सेक्टर मुख्य बाजार और बिजनेस सेंटर अब 24 घंटे सातों दिन खुले रहेंगे। नगर निगम और औद्योगिक क्षेत्रों में यह सुविधा मिलेगी। इसे लेकर राज्य सरकार ने श्रम विभाग के प्रस्ताव पर सहमति दे दी है। इसका नोटिफिकेशन एक-दो दिन में जारी होने की संभावना है। इसके बाद से यह व्यवस्था लागू हो जाएगी।

By Jagran News Edited By: Siddharth Chaurasiya Fri, 14 Jun 2024 09:16 PM (IST)
MP News: प्रदेश के बड़े शहरों में अब 24 घंटे गुलजार रहेंगे बाजार, लेकिन ये दुकानें तय समय पर ही होगी बंद
मध्य प्रदेश के बड़े शहरों में मॉल, रेस्टोरेंट, आईटी सेक्टर, मुख्य बाजार और बिजनेस सेंटर अब 24 घंटे खुले रहेंगे।

जागरण न्यूज नेटवर्क, भोपाल। मध्य प्रदेश के बड़े शहरों में मॉल, रेस्टोरेंट, आईटी सेक्टर, मुख्य बाजार और बिजनेस सेंटर अब 24 घंटे, सातों दिन खुले रहेंगे। नगर निगम और औद्योगिक क्षेत्रों में यह सुविधा मिलेगी। इसे लेकर राज्य सरकार ने श्रम विभाग के प्रस्ताव पर सहमति दे दी है।

24 घंटे संचालित होंगी व्यावसायिक गतिविधियां

इसका नोटिफिकेशन एक-दो दिन में जारी होने की संभावना है। इसके बाद से यह व्यवस्था लागू हो जाएगी। इस व्यवस्था के प्रभावी होने के बाद मध्य प्रदेश ऐसा करने वाला देश का सातवां राज्य बन जाएगा, जहां 24 घंटे सातों दिन बाजार खुले रहते हैं। श्रम विभाग के मुताबिक, भोपाल, इंदौर, जबलपुर, ग्वालियर, उज्जैन समेत सभी 16 नगर निगम और औद्योगिक क्षेत्रों में बाजार रातभर खुले रहेंगे।

प्रस्ताव के मुताबिक, बाजार, रेस्टोरेंट, मॉल, होटल, बिजनेस सेंटर और सूचना प्रौद्योगिकी से जुड़े कार्यालय 24 घंटे खुले रहेंगे। हालांकि पब, बार, क्लब, शराब दुकानें नियत समय पर ही बंद होंगे।

अधिसूचना जारी होने के साथ लागू होगी व्यवस्था

पहले श्रम विभाग ने भोपाल और इंदौर नगर निगम क्षेत्र में इस व्यवस्था को पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर करना प्रस्तावित किया था, लेकिन मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने सभी नगर निगम क्षेत्रों में इस लागू करने के लिए कहा है। इसके बाद श्रम विभाग ने मध्य प्रदेश दुकान स्थापना अधिनियम 1958 के नियम की धारा 6 में संशोधित प्रस्तावित कर विधि विभाग को भेज दिया है। अगले सप्ताह से यह व्यवस्था लागू हो जाएगी।

प्रदेश के भोपाल, इंदौर, जबलपुर, ग्वालियर, उज्जैन, देवास, रतलाम, सागर, रीवा, सतना, छिंदवाड़ा, कटनी, खंडवा, बुरहानपुर, सिंगरौली और मुरैना नगर निगम के साथ पीथमपुर, मालनपुर, मंडीदीप, पीलूखेड़ी समेत अन्य औद्योगिक क्षेत्र बाजार 24 घंटे खुलेंगे। इसके बाद मध्य प्रदेश देश का 7वां राज्य बन जाएगा।

इसके पीछे श्रम विभाग का तर्क है कि जिस तरह महाराष्ट्र, कर्नाटक, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड और तेलंगाना में माल, रेस्टोरेंट, मुख्य बाजार और बिजनेस सेंटर 24 घंटे खुले रहते हैं, वैसी ही व्यवस्था मध्य प्रदेश में भी लागू होने से रोजगार के नए अवसर उपलब्ध होंगे और राजस्व में भी वृद्धि होगी।

श्रम विभाग के अधिकारियों का कहना है कि प्रदेश में कानून व्यवस्था की बेहतर स्थिति है, इसलिए 24 घंटे बाजार खोलने में कोई समस्या नहीं है। प्रदेश में 24 घंटे बाजार खुलने से GST में वृद्धि होगी। सहयोगी आर्थिक गतिविधियां बढ़ेंगी, जिससे रोजगार के अवसर भी बढ़ेंगे। 8 घंटे की शिफ्ट के हिसाब से 3 शिफ्टों में काम होगा। सप्ताह में 48 घंटे से अधिक काम करने की अनुमति किसी को नहीं होगी।