पुंजपुर, जागरण आनलाइन डेस्‍क। प्रेमी के घर में पाये जाने पर एक महिला को सजा के तौर पर गांव वालों ने पति को महिला के कंधे पर बिठाकर गांव में जुलूस निकाला। गांव में जमा भीड़ में से कुछ लोगों ने महिला की पिटाई कर दी। पति ने भी सबके सामने पत्नी को पीटा। पिटाई के दौरान महिला भी जमीन पर गिर पड़ी, लेकिन लोग मदद करने के बजाय हंसते रहे। इस दौरान कई लोग उसके सिर के बाल काटने की बात करते रहे। बाल खींचकर महिला की पिटाई करने के बाद भी किसी को दया नहीं आयी, गांव के लोग तमाशा देखते रहे। बाद में  एक बुजुर्ग ने महिला को मारने वालों को रोका।

जानें क्‍या है मामला

ऐसी शर्मनाक घटना का वीडियो रविवार को इंटरनेट मीडिया पर वायरल हो गया। वीडियो पुंजापुरा के बोरपाडव का बताया जा रहा है। इस वीडियो में महिला का पति सबके सामने पत्नी को बेरहमी से पीटता नजर आ रहा है। उसके बाल खींचे जा रहे हैं। बताया जा रहा है कि महिला के तीन बच्चे हैं। उसका गांव के ही एक युवक से प्रेम प्रसंग था। 24 जून की रात महिला घर से निकली थी। पति ने इधर-उधर देखा तो वह नहीं मिली। उदयनगर थाने में गुमशुदगी की प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। पता चला कि महिला गांव में ही प्रेमी के घर रह रही थी। पति व परिजन ने प्रेमी के घर की तलाशी ली तो महिला डिब्बे में छिपकर बैठी थी। इसके बाद महिला को बाहर निकाला गया और पूरे समाज के सामने शर्मनाक घटना को अंजाम दिया गया। गांव के लोग जमा हो गए और महिला के पति को महिला के कंधे पर बिठाकर गांव में जुलूस निकाला गया। बताया जा रहा है कि इसके बाद महिला को मायके भेज दिया गया। किसी भी थाने में शिकायत दर्ज नहीं कराई गई है।

तमाशा देखती रही भीड़

जिस समय महिला की पिटाई की जा रही थी इस दौरान काफी संख्या में गांव के लोग जमा हो गए थे। जिसमें महिलाएं से लेकर बच्चे और बुजुर्ग शामिल थे। महिलाओं ने भी पीड़िता को बचाने का प्रयास नहीं किया। मारपीट के दौरान महिला दो बार जमीन पर गिर भी गई। लोग हंसते रहे और घटना का वीडियो बनाते रहे।

Koo App
देवास के बागली के उदयनगर में एक आदिवासी महिला के कंधे पर उसके पति को बिठाकर पिटाई करते हुए उसका जुलूस निकाला गया। शिवराज जी मैं आपसे पूछना चाहता हूं कि प्रदेश में आदिवासी महिलाओं पर इस कदर के बर्बर जुल्म क्यों हो रहे हैं? आखिर क्या वजह है कि आप घोषणाएं करते जाते हैं और आदिवासी महिलाओं पर अत्याचार बढ़ते जाते हैं? यह पहला मामला नहीं है, कभी नेमावर में आदिवासी परिवार को जमीन में जिंदा गाड़ दिया जाता है, कभी नीमच में एक आदिवासी को जीप से बांधकर घसीटकर कर मार डाला जाता है।…… - KamalNath (@officeofknath) 4 July 2022

Edited By: Babita Kashyap