शहडोल/ जेएनएन। तमिलनाडु के कुन्नूर जिले में सेना का हेलीकाप्टर क्रैश होने से भारत के पहले सीडीएस जनरल विपिन रावत के शहीद होने की खबर से शहडोल में भी उनकी ससुराल में शोक की लहर है। उल्लेखनीय है कि बिपिन रावत की ससुराल गढ़ी सोहागपुर शहडोल (मध्य प्रदेश) में है। उनकी पत्नी मधुलिका यहां के स्व. कुंवर मृगेन्द्र सिंह की पुत्री थीं जो कि रीवा रियासत का महत्वपूर्ण हिस्सा रहे हैं। मधुलिका रावत के भाई यशवर्धन सिंह ने कहा कि सेना ने जनरल विपिन रावत के ससुराल वालों को दिल्ली बुलाया है। परिवार के लोग फ्लाइट से दिल्ली जा रहे हैं।

भाई ने बताया कि कल दीदी ने बताया था कि किसी महत्वपूर्ण कार्यक्रम में जा रहे हैं। यह नहीं बताया की कहां जा रहे हैं, क्योंकि सेना के कार्यक्रमों को गोपनीय रखा जाता है। लोगों ने जब टेलीविजन पर हेलीकाप्टर के क्रैश होने की खबर देखी तब से लोग इस हादसे को लेकर काफी बेचैन थे। जनरल बिपिन रावत के साले साहब यशवर्धन सिंह से जब उनके फोन पर बात की तो उन्होंने कहा कि दीदी और जीजाजी हेलीकाप्टर में सवार थे और वह हेलीकाप्टर क्रैश हो गया है।

बताया जा रहा है कि सीडीएस बिपिन रावत अपनी पत्नी के साथ वेलिंगटन में एक कार्यक्रम में शामिल होने जा रहे थे, इसी दौरान ये हादसा हुआ है। वेलिंग्टन में आर्म्ड फोर्सेज का कॉलेज है। यहां सीडीएस रावत को लेक्चर था। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, दुर्घटनास के वक्त हेलीकाप्टर में कुल 14 लोग सवार थे।

इनमें सीडीएस जनरल बिपिन रावत, उनकी पत्नी मधुलिका रावत, ब्रिगेडियर एलएस लिद्दर, लेफ्टिनेंट कर्नल हरजिंदर सिंह, नायक गुरसेवक सिंह, नायक जितेंद्र कुमार, लांस नायक विवेक कुमार, लांस नायक बी साई तेजा और हवलदार सतपाल शामिल थे। सभी घायलों को नजदीकी सेना के अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है। हादसे की वजह खराब मौसम बताई जा रही है। वहीं, दुर्घटना के कारणों का पता लगाने के लिए भारतीय वायु सेना ने जांच के आदेश दिए हैं।

Edited By: Vijay Kumar