भोपाल, जेएनएन। राज्य में कोरोना की तीसरी लहर लगातार तेज होती जा रही है। इसके साथ ही रोजाना मिलने वाले मरीजों की संख्या भी लगातार बढ़ती जा रही है। बुधवार को राज्य में कोरोना के 9385 नए मामले सामने आए। कुल 80,072 सैंपल की जांच में अब तक इतने मरीज मिले हैं। इसके साथ ही एक्टिव मरीजों की संख्या 49,741 हो गई है। आज यह आंकड़ा 50 हजार तक पहुंच सकता है। सक्रिय मरीजों में से 685 मरीज अस्पतालों में भर्ती हैं। राज्य में मंगलवार की तुलना में बुधवार को 1788 मरीज बढ़े हैं। तीसरी लहर में यह एक दिन में सबसे ज्यादा बढ़ोतरी है। इस दौरान ग्वालियर में एक मरीज की मौत भी हुई है। बुधवार को इंदौर में 3008 और भोपाल में 1710 संक्रमितों की पहचान की गई है। राज्य में कोरोना मरीजों की यह संख्या बाकी जिलों के मुकाबले सबसे ज्यादा है। राहत की बात यह है कि राज्य भर में मरने वालों की संख्या मंगलवार की तुलना में बुधवार को पांच से घटकर एक हो गई है। दूसरे दिन भी आगर मालवा में कोई संक्रमित नहीं मिला है, जबकि कटनी जिले में भी बुधवार को कोई कोरोना का मरीज नहीं मिला है।

ठीक हुए मरीजों की संख्या कम

जिस तेजी से कोरोना के नए संक्रमित सामने आ रहे हैं, उसके हिसाब से ठीक होने वाले मरीजों की संख्या काफी कम है। हेल्थ बुलेटिन के अनुसार बुधवार को करीब 3000 कोरोना मरीज ठीक हुए जो कि गुरुवार सुबह दस बजे तक 3600 मरीज ही ठीक होना बताए गए हैं। जबकि पिछले 24 घंटे में 1788 मरीज बढ़े हैं।

इन जिलों में सर्वाधिक कोरोना मरीज

जिले————————संक्रमित

इंदौर—————3005

भोपाल—————1710

ग्वालियर —————640

जबलपुर—————520

उज्जैन—————252

सागर —————233

धारा—————194

बैतूल—————107

दतिया—————155

खरगोन—————173

रतलाम—————152

सीहोर—————126

शहडोल—————148

सिंगरौली—————106

अब तक 8 लाख 62 हजार 29 संक्रमित

क्षेत्रों में अब तक 8 लाख 62 हजार 29 संक्रमित मिल रहे हैं। 8 लाख 1735 स्‍वस्‍थ हो चुके हैं। 10,553 की मौत हो चुकी है। कोरोना की दूसरी लहर के समय बहुत ज्‍यादा मौत हुई थी। उस समय लगभग हर दूसरे परिवार ने अपने किसी करीबी या परिचित को खोया था।

इन जिलों में अधिक सक्रिय संक्रमित

प्रदेश में कोरोना के सबसे एक्टिव मरीज इंदौर, भोपाल, ग्वालियर और जबलपुर में हैं। भोपाल में 8934, इंदौर में 15751, ग्वालियर में 4224 एक्टिव मरीज हैं। इनमें से 95 फीसदी होम आइसोलेशन में हैं और इलाज करा रहे हैं, टेलीमेडिसिन सेवा के तहत डाक्टर उन्हें जरूरी सलाह दे रहे हैं।

Edited By: Babita Kashyap