भोपाल, जेएनएन। भारतीय सांख्यिकी संस्थान और भारतीय विज्ञान संस्थान ने अपने गणितीय आकलन से गणना की है कि 24 जनवरी के बाद मध्य प्रदेश में मरीजों की संख्या कम होगी। यह आकलन कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर में जिस तरह से मरीजों की संख्या में कमी आई थी उसके आधार पर किया गया है। इन संस्थानों की गणना के अनुसार एक फरवरी को मध्य प्रदेश में कोरोना अपने चरम पर होगा।

यहां 24 घंटे में सबसे ज्यादा मरीजों की संख्या 19,500 पहुंच जाएगी। हालांकि 24 जनवरी को पीक आगमन की भविष्यवाणी लगभग सही साबित हो रही है। राज्य में लगातार तीन दिनों से कोरोना मरीजों की संख्या में कमी आ रही है। 72,382 सैंपल की जांच में सोमवार को 9,451 मरीज मिले हैं। शुक्रवार को 24 घंटे में मिले मरीजों की संख्या 11,274 थी। शनिवार को 11,253 और रविवार को 10,585 मरीज मिले। रविवार की तुलना में सोमवार को 1,134 मरीज कम मिले।

हालांकि, सोमवार को मरीजों की संख्या कम होने का एक कारण यह भी हो सकता है कि रविवार की तुलना में सोमवार को 8,585 सैंपल की जांच कम हुई है। वहीं, सोमवार को अलग-अलग जिलों में सात मरीजों की मौत भी हुई है। चिंता की बात यह है कि पिछले चार दिनों से रोजाना पांच से ज्यादा मौतें हो रही हैं। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों का कहना है कि वे अभी इस नतीजे पर नहीं पहुंचे हैं कि मरीजों की संख्या में इस तरह कमी आती रहेगी।

Edited By: Babita Kashyap