भोपाल, जेएनएन। खजूरी रोड थाना पुलिस ने समय रहते क्षेत्र में एक बाल विवाह को रोक दिया। नाबालिग लड़की की शादी की सारी तैयारियां पूरी कर ली गई थी। शनिवार को उनके घर बारात भी आने वाली थी। पुलिस को जब पता चला कि लड़की नाबालिग है तो उसने तुरंत कार्रवाई की और मौके पर पहुंचकर दूल्हा-दुल्हन पक्ष को समझाया। पुलिस के समझाने के बाद दोनों पक्ष शादी को फिलहाल टालने पर राजी हो गए। अब बालिका का विवाह दो माह बाद बालिग होने पर ही होगा।

खजूरी रोड थाना प्रभारी संध्या मिश्रा ने बताया कि शुक्रवार को महिला हेल्पलाइन पर किसी ने फोन पर सूचना दी कि बैरागढ़कलां में शनिवार को एक नाबालिग लड़की की शादी होने वाली है। घटना की जानकारी महिला हेल्पलाइन ने पुलिस को दी। मामले की पुष्टि के लिए एसआई महेश सरयम टीम के साथ मौके पर पहुंचे। दुल्हन पक्ष के घर में शादी की रस्में चल रही थीं। बारात भी शनिवार को बीनागंज जिला राजगढ़ से आने वाली थी।

पुलिस ने जांच शुरू कर आठवीं तक पढ़ने वाली छात्रा के स्कूल के दस्तावेजों को खंगाला। उनके मुताबिक किशोरी की उम्र 17 साल 10 महीने निकली। इस घटना पर चाइल्ड लाइन की निदेशक अर्चना सहाय से भी चर्चा की गई।

पुलिस ने पंचनामा बनाने के साथ ही दूल्हे पक्ष के लोगों के अलावा लड़की के परिवार के लोगों से फोन पर चर्चा की। परामर्श के बाद, दोनों पक्ष लड़की के वयस्क होने के बाद ही शादी करने के लिए सहमत हुए। इस तरह समय पर फोन आने से पुलिस को बाल विवाह रोकने में सफलता मिली।

Edited By: Babita Kashyap