इंग्लैंड का ऐतिहासिक शहर है डरहम, जो डरहम काउंटी के नाम से भी मशहूर है। वीयर नदी के किनारे, इंग्लैंड के उत्तर पूर्वी हिस्से में बसी इस खूबसूरत जगह को देखना अपने आप में अलग एक्सपीरियंस है। यहां डरहम कैसल, कथीड्रल और यूनिवर्सिटी तीनों ही नायाब जगहें हैं। इतिहास के पन्नों में दर्ज ये इमारतें रोमन वास्तुकला का नायाब नमूना हैं। ग्यारहवीं शताब्दी से खड़ी इन इमारतों का हर कोना अपने में कई कहानियां समेटे हुए है।  डरहम का लैटिन नाम डनएल्म है। डन यानी पहाड़ी क‍िला और एल्म यानी द्वीप। पूरा अर्थ है- द्वीप पर बना पहाड़ी क‍िला। डरहम कैसल का नाम नोरमन से लिया गया है। डेनमार्क, आइसलैंड और नॉर्वे के समुद्री डाकुओं और लुटेरों को नोरमन के नाम से जाना जाता है।

चर्च नहीं संगीत-कला का केंद्र

डरहम गिरजाघर में घूमते हुए ऐसा लगेगा जैसे आप कोई इंग्लिश क्लासिक नॉवेल पढ़ रहे हैं। ऊंची-ऊंची सीलिंग, रंगीन रोशनदान, शैंडेलियर, गहरी पसरी खामोशी, सीलन, ठंडक भरी गंध चारों तरफ मंडराती हुई, जलती मोमबत्तियां और सजदे में झुके सर। पियानो का मधुर संगीत, बैंड और उस धुन पर नीचे लिखे कैरल को गाते स्त्री-पुरुष....बरबस ही आपको अपनी ओर खींच लेंगे।

कॉफी का अनोखा स्वाद

डरहम की सड़कों पर घूमते हुए थक जाए तो होटल में जाकर आराम करने की जगह यहां कैफे में बैठे। जहां आपको होटल के कमरे जितना ही सुकून मिलेगा। काफी के अलावा आप यहां चाय, केक और कुकीज को भी एन्जॉय कर सकते हैं। अगर आप खाने-पीने के शौकीन हैं तो ब्रेकफास्ट और स्नैक्स के बहुत सारे ऑप्शन यहां अवेलेबल हैं। 

मैग्ना कार्टा की मूल प्रति

डरहम गिरजाघर  यूनेस्को के हेरिटेज लिस्ट में शामिल है। जहां मैग्ना कार्टा (इंग्लैंड का कानूनी परिपत्र) की मूल प्रति है। डरहम कथीड्रल इंग्लैंड में नोरमन वास्तुकला का सबसे विशाल और शानदार नमूना है। यहां सेंट कैथबर्ट की समाधि, दुर्लभ पुस्तकों से सज्जित संपन्न लाइब्रेरी है, जिसमें मैग्ना कार्टा की मूल प्रति संरक्षित है। इंग्लैंड की कई पुरानी किताबों का भी कलेक्शन यहां देखने को मिलता है। 

 

Posted By: Priyanka Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस