दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। कोरोना वायरस महामारी के चलते लंबे अंतराल के बाद मुंबईकरों के लिए बड़ी खुशखबरी है। मुंबई लोकल ट्रेनें पटरी पर दौड़ने लगी हैं। इस बात की जानकारी केंद्रीय रेलमंत्री पीयूष गोयल ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर पर दी है। हालांकि, यात्रा के लिए नए नियम बनाए गए हैं,  जिनमें बताया गया है कि यात्रियों को मुंबई रेल में यात्रा के दौरान किन नियमों का ध्यान रखना पड़ेगा। अगर आप इन नियमों से वाकिफ नहीं हैं तो आइए जानते हैं कि कोरोना वायरस महामारी के बीच मुंबई लोकल रेल यात्रा के दौरान यात्रियों को किन नियमों का पालन करना पड़ेगा-

-राज्य सरकार के अनुसार, यह सुविधा केवल आवश्यक सुविधाएं प्रदान करने वालों के लिए होगी। इसकी पहचान बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) द्वारा की जाएगी। खबरों की मानें तो अब तक आवश्यक कर्मचारियों की संख्या लगभग 1.25 लाख है।

-यात्रियों को स्टेशन में प्रवेश के लिए वैध प्रमाण पत्र ले जाना होगा। इसके बाद रेलवे के द्वारा यात्री को एक क्यूआर आधारित ई-पास प्रदान किया जाएगा, ताकि उन्हें यात्रा में कोई परेशानी न हो।

-सुरक्षा के मद्देनजर हर रेलवे स्टेशन पर रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) और राज्य पुलिस के लोग चेक रखने के लिए तैनात रहेंगे।

-आरपीएफ और महाराष्ट्र पुलिस राउंड चेकिंग भी करेगी, जिसमें आवश्यक सुविधाएं प्रदान करने वालों की पहचान की जाएगी।

-कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए ट्रेनों की क्षमता भी कम कर दी गई है। जहां पहले एक लोकल ट्रैन में 1200 यात्रियों को यात्रा की अनुमति थी। वहीं, कोरोना वायरस महामारी संकट में एक लोकल ट्रैन में केवल 700 यात्रियों को ही अनुमति दी गई है।

-यात्रा करने की अनुमति केवल उन्हें दी गई है जो सेहतमंद है। साथ ही वह कंटेनमेंट जोन से नहीं है।-किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए हर रेलवे स्टेशन पर डॉक्टर्स और एम्बुलेंस की व्यवस्था की गई है।

Posted By: Umanath Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस