Move to Jagran APP

Mughal Garden: अमृत उद्यान के नाम से जाना जाएगा अब मुगल गार्डन, 31 जनवरी से आम जनता कर सकेगी इसका दीदार

Mughal Garden दिल्ली स्थित राष्ट्रपति भवन के मुगल गार्डन का नाम शनिवार को बदल दिया गया है। अब इसकी पहचान ‘अमृत उद्यान के नाम से होगी। आम जनता के लिए ‘अमृत उद्यान 31 जनवरी को खोला जाएगा और 26 मार्च तक लोग यहां घूम सकेंगे।

By Priyanka SinghEdited By: Priyanka SinghPublished: Sat, 28 Jan 2023 08:12 PM (IST)Updated: Sat, 28 Jan 2023 08:12 PM (IST)
Mughal Garden: राष्ट्रपति भवन मुगल गार्डन का नाम बदलकर हुआ अमृत उद्यान

नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। Mughal Garden: राष्ट्रपति भवन में मौजूद मुगल गार्डन का नाम बदलकर अब अमृत उद्यान हो गया है। अमृत महोत्सव के तहत इसका नाम बदला गया है। इस गार्डन में कई तरह के खूबसूरत फूलों को एक साथ देखा जा सकता है। हर साल वसंत के मौसम में यह आम जनता के लिए खोला जाता है। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू 29 जनवरी को उद्यान उत्सव की शुरुआत करेंगी। आम लोगों इस खूबसूरत उद्यान का दीदार 31 जनवरी से कर पाएंगे। वैसे आप 26 मार्च तक कभी भी यहां आने का प्लान बना सकते हैं। 

आम जनता के लिए पहली बार भारत देश के पहले राष्ट्रपति डॉ. राजेन्द्र प्रसाद ने इस उद्यान को खुलवाया था। यहां ब्रिटिश और मुगल दोनों तरह के गार्डन की झलक देखने को मिलती है। राष्ट्रपति भवन का निर्माण करने वाले आर्किटेक्ट एडविन लुटियंस ने इसे बनाया था।

अमृत उद्यान की खासियत

राष्ट्रपति भवन के अंदर मौजूद अमृत उद्यान पूरे 15 एकड़ में फैला हुआ है, जिसमें 10 से ज्यादा बगीचे हैं। जिनमें गुलाब के अलावा और भी कई तरह के खूबसूरत फूल, सेंट्रल लॉन एंड लॉग, सर्कुलर, स्पिरिचवल, हर्बल (33 औषधीय पौधे), बोन्साई (ढाई सौ प्लांट), कैक्ट्स (80 वेरायटी) व नक्षत्र गार्डन (27 वैरायटी) शामिल हैं। इतना ही नहीं इसके अलावा तकरीबन 160 तरह के 5 हजार पेड़ भी मौजूद हैं। 

हर पौधे के पास लगाया जाएगा QR कोड

राष्ट्रपति की डिप्टी प्रेस सेक्रेट्री नविका गुप्ता ने बताया है कि मुगल गार्डन में आने वाले लोगों की सुविधा के लिए कई जरूरी बदलाव किए गए हैं, जैसे- सभी पौधों के पास क्यूआर कोड लगाया जाएगा। जिसे स्कैन करके उस पौधे से जुड़ी सारी जानकारी आप ले सकेंगे। इसके साथ ही 20 प्रोफेशनल्स भी तैनात किए जाएंगे, जो यहां आने वाले को गार्डन के बारे में जरूरी जानकारियां प्रदान करेंगे।

उद्यान में मौजूद हैं 138 तरह के गुलाब

अमृत उद्यान पूरे 15 एकड़ में फैला हुआ है। जिसमें 138 तरह के गुलाब देखे जा सकते हैं। 10 हजार से ज्यादा ट्यूलिप की वैराइटी मौजूद है और 70 अलग-अलग टाइप के लगभग 5 हजार सीज़नल फूलों भी उद्यान की शोभा बढ़ाते हैं।

फ्री है एंट्री 

अमृत उद्यान में एंट्री बिल्कुल फ्री है। जहां आप फैमिली, फ्रेंड्स के साथ पैसे की टेंशन लिए बिना घूमने का प्लान बना सकते हैं। 

कैसे पहुंचे?

अमृत उद्यान पहुंचने का सबसे बेस्ट ऑप्शन है मेट्रो। यहां तक पहुंचने के लिए सबसे नजदीकी मेट्रो स्टेशन सेंट्रल सेक्रेटेरिएट है। 

ध्यान दें

- वैसेे तो आम लोग के लिए यह 31 जनवरी से खोला जाएगा और यह 26 मार्च तक खुला रहेगा लेकिन यहां फरवरी से लेकर मार्च में निर्धारित दिन तक ही घूमने जाया जा सकता है। इसके बाद यहां का गेट बंद हो जाता है।

- अमृत उद्यान सोमवार को बंद रहता है आप इस दिन ना आएं इसके अलावा इस साल होली पर भी बंद रहेगा।

- साथ ही यहां खाने-पीने का समान लेकर जाना सख्त मना है।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.