आगरा की खूबसूरती किसी से छिपी नहीं है और ताज महोत्सव के दौरान तो शहर की खूबसूरती अपने चरम पर होती है। वैसे तो आगरा आने वाले पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र ताजमहल होता है लेकिन इसके अलावा भी यहां  ऐसी कई सारी जगहें हैं जो ऐतिहासिक होने के साथ ही काफी खूबसूरत भी हैं। 18 फरवरी से शुरू हुए ताज महोत्सव का समापन 27 फरवरी को होगा। 21 फरवरी शुक्रवार को शिवरात्रि है जिस दिन ज्यादातर जगहों पर छुट्टी होती है तो अगर आप भी उन गिने-चुने खुशकिस्मत लोगों में शामिल हैं तो शुक्रवार शिवरात्रि की छुट्टी के बाद शनिवार, रविवार वीकेंड है मतलब 3 दिन की छुट्टी, तो क्यों न आगरा घूमने का बना लें प्लान। जहां आप बजट में कर सकेंगे जमकर मौज-मस्ती।

आगरा में इन जगहों की सैर बिल्कुल न करें मिस

ताजमहल

ताजमहल शाहजहां की प्रिय बेगम मुमताज महल का मकबरा है। ताजमहल विश्व के सात अजूबे में से एक है। मुगल बादशाह शाहजहां ने अपनी बेगम मुमताज महल की याद में बनवाया था। इस स्मारक को बनाने में पूरे बाइस साल (1630-1652) लगे। सफेद संगमरमर से बना यह मकबरा वर्गाकार नींव पर आधारित है। यह खूबसूरत महल प्यार का प्रतीक माना जाता है। हर शुक्रवार को ताजमहल बंद रहता है।

आगरा किला

आगरा का एक अन्य विश्व धरोहर स्थल है आगरा का किला। आगरा का किला अकबर द्वारा 1565 में बनवाया गया था। बाद में उनके पौत्र शाहजहां ने इस किले का पुनरोद्धार लाल बलुआ पत्थर से करवाया। इस किले की मुख्य इमारतों में मोती मस्जिद, दीवान-ए-आम, दीवान-ए-खास, जहांगीर महल, खास महल, शीश महल एवं मुसम्मन बुर्ज आते हैं। जिसके प्राचीन वास्तुशिल्प को देखने हजारों पर्यटक देश-विदेश से आते हैं।

मेहताब बाग

ताज को देखने के लिए मेहताब बाग से सुंदर कोई जगह नहीं हो सकती। यमुना नदी के किनारे 25 एकड़ में बने मेहताब बाग से ताज की खूबसूरती देखते ही बनती है। इसे 'मूनलाइट गार्डन' के नाम से भी जाना जाता है।

अकबर का मकबरा

आगरा से 4 किमी दूर सिकंदरा में स्‍थित है अकबर का मकबरा। मुगल सम्राट अकबर ने अपने जीवनकाल में इस इमारत को बनवाना शुरु किया था। लेकिन पूरा होने से पहले ही अकबर की मृत्‍यु हो गई। बाद में उनके पुत्र जहांगीर ने इसे पूरा करवाया। यह मकबरा हिंदू, मुस्‍लिम, ईसाई, बौद्ध और जैन कला का मिला-जुला स्‍वरूप है।

एत्‍माद उद दौला का मकबरा

यमुना नदी के बायीं ओर बना एत्‍माद उद दौला का मकबरा नूरजहां द्वारा बनवाया गया था। नूरजहां ने अपने पिता मिर्जा गियास बेग की मृत्‍यु के करीब सात साल बाद इस मकबरे का निर्माण करवाया था। बलुआ पत्‍थर के चबूतरे पर खड़ी यह इमारत सफेद संगमरमर की बनी है। 

कैसे पहुंचे

आगरा देश के बाकी हिस्सों से एनएच2, एनएच3 और एनएच11 से जुड़ा हुआ है। आगरा के लिए सरकारी बसें, निजी बसें और वोल्वो जैसी लक्जरी बसें उपलब्ध रहतीं हैं। आगरा रेल मार्ग से अच्छे से जुड़ा हुआ है। आगरा कैंट रेलवे स्टेशन और राजा की मंडी प्रमुख है। सभी प्रमुख ट्रेनें इन स्टेशनों से गुजरती है। आगरा में स्थित खेरिया एयरपोर्ट शहर से 5 किमी दूर है. यहां पूरे भारत से कई घरेलू एयरलाइन की सेवाएं उपलब्ध है.

Posted By: Priyanka Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस