घर का इंटीरियर कराते समय ज़रा-सी लापरवाही और गलती आपकी सारी मेहनत पर पानी फेर सकती है। घर बड़ा हो या छोटा दोनों के ही डेकोरेशन में कुछ खास बातों का ध्यान रखना चाहिए। जिससे आपका घर सुंदर, सुसज्जित और स्पेसियस लगेगा। 

1. बोरिंग एंट्रेस: इंटीरियर कराते समय कुछ लोग ड्रॉइंगरूम-बेडरूम के इंटीरियर पर तो खूब ध्यान देते हैं, लेकिन घर के एंट्रेंस की ओर उनका ध्यान नहीं जाता। बोरिंग एंट्रेंस मेहमानों पर अच्छा प्रभाव नहीं डालती। यूं भी पहला इंप्रेशन बहुत मायने रखता है। इसलिए घर चाहे छोटा हो या बड़ा मेन डोर बड़ा-खुला और आकर्षक होना चाहिए। इसके लिए उसका साइज़ और डिज़ाइन घर के अन्य दरवाज़ों से अलग रखें। इसके अलावा वहां कोई सुंदर-सी पेंटिंग, कुछेक ग्र्रीन प्लांट और खूबसूरत लाइटिंग की व्यवस्था करें।

2. टेंडी शोपीसेज़ की भरमार: घर सजाते समय कुछ लोगों का जोर ट्रेंडी चीज़ों पर ज्यादा रहता है। ये चीज़ें कुछ ही समय में आउट ऑफ ट्रेंड हो जाती हैं और फिर देखने में अच्छी नहीं लगतीं। इसलिए इंटीरियर में सदाबहार चीज़ों को महत्व देें।

3. ज़रूरत से ज़्यादा डीआईवाई: खुद बनाई चीज़ों से घर सजाना भले ही आपकी क्रिएटिविटी को दर्शाता हो, लेकिन इनके ज़्यादा इस्तेमाल से घर का लुक बिगाड़ता ही है। इसलिए एक या दो से अधिक डीआईवाई डेकोर आइटम्स घर में न सजाएं।4. एकरसता का एहसास: कुछ घरों में सभी कमरों का इंटीरियर एक जैसा होता हैं, जो देखने में बोरिंग लगता हैं। हर कमरे के लिए अलग इंटीरियर थीम का चुनाव करके इस एकरसता को तोड़ सकते हैं। जैसे एक रूम के इंटीरियर के लिए मॉडर्न तो दूसरे के लिए ट्रेडिशनल इंटीरियर थीम चुनी जा सकती हैं।

कुछ महत्पूर्ण बातें :

- अपने घर को सिलेब्रिटीज़ के घर जैसा लुक देने की कोशिश न करें। घर आपका हैं, उसमें आपकी पसंद-नापसंद दिखनी चाहिए।

- घर सजाते समय झालर और डोरी वाली चीज़ें कम से कम इस्तेमाल करें। ये देखने में अच्छी नहीं लगतीं।

(आर्किटेक्ट अनुज सिंह से बातचीत पर आधारित)

Pic credit- freepik

Edited By: Priyanka Singh