शुरू हो चुका है त्योहारों का मौसम...नवरात्रि, दशहरा और उसके बाद दिवाली इंडिया के सबसे खास फेस्टिवल्स हैं। घरों के साथ बाजारों में भी इसकी रौनक देखने को मिलती है। बाजार का मतलब महज अब आसपास की दुकानों से नहीं रह गया है इसका एक मतलब ऑनलाइन शॉपिंग भी है। जिसमें त्योहारों की शुरूआत से पहले चलने वाली सेल हर किसी के लिए खास होती है। लोगों को लगता है कि सेल का मतलब सस्ते में अच्छी चीज़ें खरीदने का मौका, लेकिन हर कोई ऑनलाइन शॉपिंग करना पसंद नहीं करता। जिसके पीछे कई सारी वजहें होती हैं। क्या खरीदें, क्या न खरीदें, कहीं अगर सामान खराब निकल गया तब क्या होगा, ऑनलाइन शॉपिंग में कहीं ठगे तो नहीं जाएंगे? तो अगर आपके मन में भी ऐसे कई सवाल उठते होंगे। यहां दिए गए शॉपिंग टिप्स पर करें गौर जहां मौजूद हैं आपके सारे सवालों के जवाब। 

ऑनलाइन शॉपिंग करते वक्त रखें इन बातों का ध्यान

इसमें कोई शक नहीं कि ऑनलाइन शॉपिंग बहुत ही सुविधाजनक है पर कई बार इसमें ग्राहकों से ठगी का मामला भी देखने को मिलता है। इससे बचने के लिए इन बातों का रखें खास ख्याल।

1. अगर आप शॉपिंग की कोई नई साइट ट्राई करना चाहते हैं तो सबसे पहले उसका डोमेन नेम ज़रूर चेक करें। देखें कि यूआरएल में https लिखा है या नहीं। इसके अलावा साइट की सही स्पेलिंग ज़रूर देखें। यह जानने के लिए साइट किसके नाम पर है, आप registry.in /WHOIS पर जाकर देखें। अगर साइट पर कोई कॉन्टैक्ट डिटेल्स नज़र न आएं या रिटर्न पॉलिसी सही न लगे तो ऐसी साइट को छोड़ देना ही बेहतर है।

2. अगर फायरवॉल्स या एंटी-वायरस सॉफ्टवेयर उपलब्ध नहीं है तो मोबाइल फोन से शॉपिंग न करें।

3. सिर्फ कम कीमत देखकर खरीदारी न करें। सेलर की रेटिंग और खरीदारों का रिव्यू पढऩे के बाद ही शॉपिंग का निर्णय लें।

4. आप scamadviser.com पर जाकर कंपनी की ट्रस्ट रेटिंग भी जान सकते हैं। यहां आपको उसकी सारी डिटेल्स के अलावा यह जानकारी भी मिल जाएगी कि उस साइट से शॉपिंग कितनी सुरक्षित है।

5. हमेशा किसी विश्वसनीय साइट से ही शॉपिंग करें।

6. किसी भी सार्वजनिक वाई-फाई के ज़रिये ऑनलाइन शॉपिंग न करें क्योंकि इससे लॉग इन आइडी और पासवर्ड की हैकिंग का खतरा बढ़ जाता है।

7. जब घर में सामान की डिलिवरी हो तो पैकेट खोलने के दौरान बिना रुके उसका विडियो बनाएं । अगर कंपनी आपके साथ कोई धोखाधड़ी करती है तो आपके पास उसका पक्का सबूत रहेगा।

8. कैश ऑन डिलिवरी पेमेंट का सबसे सुरक्षित माध्यम है क्योंकि इसमें सामान मिलने के बाद बिल का भुगतान होता है।

9. अपने सारे अकाउंट्स के पासवर्ड अलग-अलग रखें और कोई भी पासवर्ड लैपटॉप या मोबाइल पर सेव करके न रखें। बेहतर यही होगा कि पासवर्ड मैनेजर ऐप डाउनलोड करके रखें, यह आपके पासवर्ड को डिजिटली सुरक्षित बना देता है। 

10. सुरक्षा की दृष्टि से लैपटॉप की तरह आपके स्मार्ट फोन में भी एंटी वायरस सॉफ्टवेयर का होना ज़रूरी है।

 

Posted By: Priyanka Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस