नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। Makar Sankranti 2020 Kichdi Recipe: मकर संक्रांति का त्योहार 2020 में 15 जनवरी को मनाया जाएगा। मकर संक्रांति को शास्त्रों में स्नान, दान और ध्यान के त्योहार के रूप में दर्शाया गया है। इस दिन सूर्य उत्तरायण होकर मकर राशि में प्रवेश करते हैं। इस दिन भगवान सूर्य को खिचड़ी का भोग लगाया जाता है और गुड़ तिल से बनी चीज़ें जैसे तिल के लड्डू, गजक, रेवड़ी को प्रसाद के रूप में बांटा जाता है। 

मकर संक्रांति पर खिचड़ी की मान्यता

मकर संक्रांति पर खिचड़ी खाने की परंपरा के पीछे भगवान शिव के अवतार कहे जाने वाले बाबा गोरखनाथ की कहानी है। खिलजी के आक्रमण के समय नाथ योगियों को खिलजी से संघर्ष के कारण भोजन बनाने का समय नहीं मिल पाता था। इससे योगी अक्सर भूखे रह जाते थे और कमज़ोर हो रहे थे। इस समस्या का हल निकालने के लिए बाबा गोरखनाथ ने दाल, चावल और सब्ज़ी को एक पकाने की सलाह दी।  

खिचड़ी काफी पौष्टिक होने के साथ जल्दी तैयार भी हो जाती है। इससे शरीर को तुरंत ऊर्जा मिलती है। नाथ योगियों को यह व्यंजन काफी पसंद आया। बाबा गोरखनाथ ने इस व्यंजन का नाम खिचड़ी रखा। गोरखपुर स्थित बाबा गोरखनाथ के मंदिर के पास मकर संक्रांति के दिन खिचड़ी मेला आरंभ होता है। कई दिनों तक चलने वाले इस मेले में बाबा गोरखनाथ को खिचड़ी का भोग लगाया जाता है और इसे भी प्रसाद के रूप में बांटा जाता है।

दाल खिचड़ी

सामग्री 

आधा कप चावल

100 ग्राम तूर/ अरहर दाल

2 बड़े चम्मच देसी घी

प्याज़, धनिया, मिर्च, अदरक, लहसन, बारीक कटी हुई

2 टमाटर बारीक कटे हुए

1 छोटा चम्मच ज़ीरा

1 छोटा चम्मच हींग

1 छोटा चम्मच गरम मसाला

1 छोटा चम्मच लाल मिर्च पाउडर

1 छोटा चम्मच धनिया पाउडर

1 छोटा चम्मच हल्दी पाउडर

1 छोटा चम्मच नमक

विधि

सबसे पहले चावल और अरहर की दाल को धोएं और हल्के गर्म पानी में आधे घंटे भिगो कर रख दें। कुकर को गैस पर रखें और थोड़ी देर बाद गर्म होने पर इसमें घी डालें। घी के गरम होने पर इसमें हींग, ज़ीरा और गरम मसाला डालें। अब प्याज़, हल्दी, लाल मिर्च पाउडर, टमाटर और नमक डाल कर भूनें। जब तक मसाला भुन न जाए तब तक थोड़ी-थोड़ी देर में इसे चलाते रहें। अब चावल दाल को मसाले में डालें और साथ में पानी भी डाल दें। इसके बाद कुकर के में दो सीटी तक पकने दें। गरम गरम खिचड़ी में घी डालकर, अचार और पापड़ के साथ परोसें।  

Posted By: Ruhee Parvez

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस