नई दिल्ली। जागरण की वेबसाइट 'विश्वास न्यूज़' की फैक्ट चेक टीम हर दिन सोशल मीडिया पर वायरल हो रहीं ख़बरों का सच हमारे रीडर्स के लिए सामने लाने का प्रयास करती है। पेश हैं बुधवार की ऐसी ही टॉप 6 ख़बरें।

Fact Check: सेल टार्गेट हासिल करने की खुशी में टाटा मोटर्स नहीं दे रहा मुफ्त सफारी, वायरल पोस्ट फर्जी है

सोशल मीडिया पर अब एक पोस्ट वायरल हो रही है, जिसके जरिए दावा किया जा रहा है कि तीन करोड़ से ज्यादा सेल होने की खुशी में टाटा मोटर्स टाटा सफारी जीतने का मौका दे रही है। मुफ्त में टाटा सफारी पाने के लिए चार सवालों के जवाब देने होंगे और बताए गए निर्देशों का पालन करना होगा। विश्वास न्यूज ने पड़ताल में पाया कि वायरल पोस्ट में किया गया दावा गलत है। दरअसल न तो टाटा मोटर्स की सेल बढ़ी है और न ही कंपनी ने इस तरह का कोई कंटेस्ट जारी किया है। पूरी ख़ूबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

Fact Check: नीरव मोदी ने लंदन कोर्ट में नहीं दिया है वायरल हो रहा यह बयान

पंजाब नेशनल बैंक को करीब 13 हजार करोड़ रुपए का चूना लगाकर विदेश भागे उद्योगपति नीरव मोदी को ब्रिटेन की स्कॉटलैंड यार्ड पुलिस ने लंदन में इसी साल 21 मार्च को गिरफ्तार कर लिया था। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, उसे 29 मार्च तक हिरासत में भी भेज दिया गया था। सोशल मीडिया पर अब एक पोस्ट वायरल हो रही है, जिसके जरिए दावा किया जा रहा है कि नीरव मोदी ने लंदन कोर्ट में बयान दिया है कि वह भारत से भागा नहीं था, बल्कि उसे भारत से निष्कासित किया गया था। 13000 करोड़ में से मेरा हिस्सा 32 प्रतिशत ही था, बाकी का पैसा बीजेपी के नेताओं ने लिया। विश्वास न्यूज ने पड़ताल में पाया कि वायरल पोस्ट में किया गया दावा गलत है। नीरव मोदी ने ऐसा कोई बयान नहीं दिया है। पूरी ख़ूबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

Fact Check: राजस्थान के भीलवाड़ा में श्मशान घाट में भाइयों के बीच संपत्ति को लेकर हुई लड़ाई का वीडियो गलत दावे के साथ वायरल

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो में कुछ लोगों को आपस में लड़ते हुए देखा जा सकता है। दावा किया जा रहा है कि यह लड़ाई शव को जलाने के लिए लकड़ियों की कमी के कारण श्मशान घाट में हुई। दो पक्षों में हुई यह लड़ाई इस बात को लेकर हुई कि शव का दाह संस्कार पहले कौन करेगा। विश्वास न्यूज की पड़ताल में यह दावा गलत निकला। श्मशान घाट में हुई लड़ाई का यह वीडियो भाइयों के बीच आपसी विवाद का नतीजा था। इसका श्मशान में लकड़ियों की कमी जैसे दावे के साथ कोई लेना-देना नहीं है। कोरोना की दूसरी लहर के दौरान देश के कई राज्यों के अलग-अलग हिस्सों में मौजूद श्मशान घाटों में लकड़ियों की कमी की खबरें आई थी और वायरल हो रहे वीडियो को उसी संदर्भ से जोड़कर साझा किया जा रहा है। पूरी ख़ूबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

Fact Check : देश के दूसरे सबसे बड़े कोविड सेंटर के नाम पर वायरल हुई कतर स्‍टेडियम की तस्‍वीर

सोशल मीडिया में एक तस्‍वीर वायरल हो रही है। इसे लेकर यूजर्स दावा कर रहे हैं कि यह तस्‍वीर राष्‍ट्रीय स्‍वयंसेवक संघ के द्वारा बनाए गए भारत के दूसरे सबसे बड़े कोविड केयर सेंटर की है। विश्‍वास न्‍यूज की पड़ताल में वायरल पोस्‍ट फर्जी साबित हुई। जिसे कोविड सेंटर बताया जा रहा है, वह दरअसल कतर का अल बयात स्‍टेडियम है। इस पड़ताल को मराठी में भी पढ़ा जा सकता है। पूरी ख़ूबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

Fact Check: बीबीसी की ब्रेकिंग प्लेट का यह वायरल स्क्रीनशॉट एडिटेड है

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक पोस्ट में एक बीबीसी टीवी चैनल का स्क्रीनशॉट शेयर करके दावा किया जा रहा है कि बीबीसी ने दर्शकों को उन लोगों की संख्या के बारे में गुमराह किया, जिन्होंने 29 मई, 2021 को लंदन में वैक्सीन-विरोधी और लॉकडाउन-विरोधी प्रदर्शन में हिस्सा लिया था। विश्वास न्यूज़ ने अपनी पड़ताल में पाया कि यह दावा गलत है, वायरल पोस्ट में शेयर किया जा रहा स्क्रीनशॉट एडिटेड है। पूरी ख़ूबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

Fact Check: कोल्ड ड्रिंक और आम साथ खाने को जानलेवा बताने वाला दावा फर्जी, मनगढ़ंत घटना के साथ किया जा रहा शेयर

सोशल मीडिया पर एक पोस्ट वायरल हो रही है। इस पोस्ट में दावा किया जा रहा है कि आम खाने के तुरंत बाद कोल्ड ड्रिंक पीना जानलेवा होता है। इस पोस्ट में चंडीगढ़ में हुई एक कथित घटना का जिक्र किया जा रहा है, जिसमें बताया गया है कि आम खाने के बाद कोल्ड ड्रिंक पीने से कुछ यात्रियों की मौत हो गई। विश्वास न्यूज की पड़ताल में ये दावा गलत निकला है। एक्सपर्ट्स के मुताबिक, आम खाने के बाद कोल्ड ड्रिंक पीने से कोई जानलेवा रिएक्शन तैयार नहीं होता। चंडीगढ़ में भी ऐसी कोई घटना नहीं हुई है, जहां इस कॉम्बिनेशन का सेवन करने से किसी की मौत हुई हो। पूरी ख़ूबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

Vishvas News जागरण न्यू मीडिया का एक आईएफसीएन सर्टिफाइड (IFCN Certified) फैक्ट चेकिंग ग्रुप है।

Edited By: Ruhee Parvez